जागरण संवाददाता, साहिबाबाद/लोनी। कोरोना संक्रमण के इस दौर में भी लोग पैसे कमाने में लगे हुए हैं। उनको संक्रमण फैल जाने से कोई लेना-देना नहीं है वो सिर्फ पैसे के लिए काम कर रहे हैं। एनसीआर के इलाके में ऐसे कई लोग सक्रिय हैं, जो मेडिकल वेस्ट को प्रॉपर तरीके से साफ किए बगैर बाजार में बेच रहे हैं। ऐसे में संक्रमण फैलने की बजाय और भी बढ़ता जा रहा है। पुलिस ने ऐसे ही एक गिरोह के कुछ सदस्यों को गिरफ्तार किया है।

ट्रॉनिका सिटी थाना पुलिस ने अस्पतालों के बाहर पड़े दस्ताने एकत्र कर उन्हें धोने के बाद पैक कर बाजार में बेचने वाले तीन आरोपितों को गिरफ्तार किया है। उनके कब्जे से भारी मात्रा में दस्ताने बरामद हुए हैं। पुलिस ने गिरफ्तार आरोपितों को जेल भेज दिया है।

ट्रॉनिका सिटी थाना प्रभारी निरीक्षक उमेश पवार ने बताया कि रात करीब 11 बजे ट्रानिका सिटी औद्योगिक क्षेत्र स्थित एक फैक्ट्री में अवैध रूप से दस्ताने पैक किए जाने की सूचना प्राप्त हुई थी। जिस पर पुलिस टीम ने फैक्ट्री पर छापेमारी की। छापेमारी के दौरान फैक्ट्री से भारी मात्रा में दस्ताने बरामद हुए।

वहां दस्ताने बनाने की मशीन और सामान नहीं था। फैक्ट्री में मौजूद तीनों युवकों से पूछताछ की गई। पूछताछ में उन्होंने दस्तानों को अस्पतालों के बाहर से एकत्र कर उन्हें धोने के बाद पैक करना स्वीकार किया। थाना प्रभारी ने बताया कि तीनों गिरफ्तार आरोपितों को जेल भेज दिया है।

मां और बहन की हुई मौत

थाना प्रभारी ने बताया कि एक आरोपित की मां और बहन की कोरोना संक्रमण से मौत हो चुकी है। इसके बावजूद वह अपने साथियों के साथ मिलकर अन्य लोगों के जीवन से खिलवाड़ करने में लगा है।

कई बडे़ लोग शामिल होने की आशंका

थाना प्रभारी का कहना है कि आरोपितों को जेल भेज दिया गया है। लेकिन मामले में कई बिन्दुओं पर जांच जारी है। तीनों आरोपित अपने दम पर इस कार्य को नहीं कर सकते। संभवत: इसमें कई बड़े लोग शामिल होने की संभावना है। पुलिस ने जांच के बाद कई अन्य लोगों के चेहरे सामने आने की संभावना जताई है।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप