नई दिल्ली, जागरण डिजिटल डेस्क। दिल्ली-एनसीआर में ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान यानी ग्रेप लागू कर दिया गया है। इसी क्रम में दिल्ली से सटे गाजियाबाद में पर्यावरण संरक्षण के लिए अहम फैसला लिया गया है। डीएम राकेश कुमार सिंह ने किसानों के साथ अहम बैठक करते हुए खेतों में पराली जलाए जाने पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाते हुए जुर्माना वसूलने की बात कही है।

डीएम ने एजजीटी का हवाला देते हुए किसानों से पर्यावरण संरक्षण के लिए सहयोग मांगा। धान की कटाई के उपरान्त पराली के साथ-साथ अन्य फसल अवशेष को जलाने से पर्यावरण प्रदूषण के साथ-साथ मृदा के स्वास्थ्य पर विपरीत प्रभाव पड़ता है। उन्होंने जनपद के किसानों से एयर क्वालिटी इंडेक्स की संवेदनशीलता का ध्यान रखने एवं पर्यावरण को अनुकूल रखने की अपील की है।

इसके साथ ही पराली जलाने वाले किसानों पर न्यूनतम 2500 रुपये का जुर्माना लगाने का फैसला किया है। जिलाधिकारी की ओर से जारी आदेश के मुताबिक 2 एकड़ से कम जमीन पर पराली जलाने वाले किसानों पर 2500 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा।

डीएम ने कहा कि एनजीटी द्वारा दिये गये दिशा-निर्देशों के अनुसार अर्थदण्ड/वसूली की जाएगी। जिसमें कृषि भूमि का क्षेत्रफल 02 एकड़ से कम होने की दशा में अर्थदण्ड रूपये 2500/- प्रति घटना। कृषि भूमि का क्षेत्रफल 02 एकड़ से अधिक किन्तु 05 एकड़ से कम होने की दशा में अर्थदण्ड रूपये 5000/- प्रति घटना एवं कृषि भूमि का क्षेत्रफल 05 एकड़ से अधिक होने की दशा में अर्थदण्ड रूपये 15000/- प्रति घटना अर्थदंड लगाया जाएगा। 

उधर, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र डासना में जिले की पहली हेल्थ एटीएम लग गई है। सीएचसी के प्रभारी डा.भारत भूषण ने सबसे पहले हेल्थ एटीएम से खुद की कोरोना जांच की। तुरंत जांच रिपोर्ट नेगेटिव आ गई। सीएमओ डा.भवतोष शंखधर ने बताया कि संजयनगर स्थित संयुक्त अस्पताल, जिला एमएमजी अस्पताल और सीएचसी मोदीनगर में भी हेल्थ एटीएम स्थापित करने का काम चल रहा है। स्टाफ को प्रशिक्षण देने के बाद अगले एक-दो दिन में हेल्थ एटीएम का ट्रायल शुरू कर दिया जाएगा।

Edited By: Pradeep Kumar Chauhan

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट