सब हेड : फरार आरोपित गिरफ्तार, दूर भागने की फिराक में लोगों से मांग रहा था आर्थिक मदद शर्मनाक करतूत

-धर्म विशेष के लोगों के आयोजनों में करता था घृणित कार्य

-अपने धर्म से जुड़े लोगों के यहां कभी नहीं किया ऐसा

-इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुआ था आरोपित का वीडियो जागरण संवाददाता, मोदीनगर : भोजपुर थाना क्षेत्र के दौसा-बंजारपुर गांव में तीन दिन पहले सगाई समारोह में नान पर थूक लगाने के मामले के फरार आरोपित को पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के सामने आरोपित ने कबूला है कि वह पिछले पांच साल से धर्म विशेष के आयोजनों में इस तरह का घृणित कार्य कर रहा था। आरोपित को पुलिस ने कोर्ट में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

भोजपुर थाना क्षेत्र के दौसा-बंजारपुर गांव निवासी शिवकुमार के भतीजे की गांव स्थित कालेज परिसर में गुरुवार को सगाई थी। इसमें कैटर्स ने सहबिस्वा निवासी मोहसिन को नान बनाने के लिए बुलाया था। आरोपित प्रत्येक लोई पर थूक लगाकर भट्ठी में सेंक रहा था। समारोह में आए किसी व्यक्ति ने उसे ऐसा करते देख लिया और उसकी हरकत को कैमरे में कैद कर लिया। शुक्रवार को यह वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो गया। पुलिस ने मामले का संज्ञान लेकर आरोपित की तलाश में दबिश दी, लेकिन वह घर छोड़कर परिवार के साथ फरार हो गया। देर शाम को शिवकुमार की तहरीर पर पुलिस ने महामारी अधिनियम सहित अन्य गंभीर धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की थी। पुलिस की तीन टीमों ने आरोपित की तलाश में मुरादनगर सहित कई जगहों पर दबिश दी और शनिवार की अलसुबह मुरादनगर के सहबिस्वा से उसे गिरफ्तार कर लिया। बताया जाता है कि आरोपित कहीं दूर भागने की फिराक में था और इसके लिए करीबियों से पैसा भी मांग रहा था। लेकिन, वीडियो वायरल होने के बाद किसी ने भी उसकी मदद नहीं की।

पिछले पांच साल से कर घृणित काम : पुलिस ने थाने में आरोपित से पूछताछ की तो शुरू में उसने वीडियो को ही फर्जी बता दिया। लेकिन, सख्ती से पूछताछ में उसने सच्चाई बयां कर दी। उसने पुलिस को बताया कि नान बनाने के अलावा वह मकानों की रंगाई-पुताई का काम भी करता है। कई हलवाई और कैटर्स उसके संपर्क में हैं, जो उसे सगाई, शादी, जन्मदिन आदि आयोजनों में नान बनाने के लिए बुलाते थे। उसने पुलिस को यह भी बताया कि धर्म विशेष के आयोजनों में वह नान पर थूक लगाने का काम पांच साल से करता आ रहा है। अपने धर्म से जुड़े लोगों के यहां आयोजनों में भी वह नान बनाने के लिए जाता था, लेकिन वहां कभी ऐसा काम नहीं किया।

जमकर हो रही निदा : मेरठ के बाद मोदीनगर के भोजपुर में इस तरह का प्रकरण होने के बाद लोगों में इस करतूत की कड़ी निदा हो रही है। लोगों का कहना है कि इस प्रकार की घटनाओं से विश्वास की डोर कमजोर हुई है। कैटर्स को ऐसे लोगों को आयोजनों में बुलाने से बचना चाहिए। इंटरनेट मीडिया पर भी लोग तरह-तरह की प्रतिक्रिया दे रहे हैं।

Edited By: Jagran