जासं, फतेहपुर : रेलवे स्टेशन पर नार्थईस्ट एक्सप्रेस से उतरे दो मौलना और संग रहे 10 बच्चों को देख जीआरपी को संदेह हुआ। इस पर उन्होंने मौलाना संग सभी बच्चों को रोक लिया और पूछताछ की। इसके बाद बच्चों को चाइल्ड लाइन के सिपुर्द कर दिया। वहीं, बिहार राज्य के पूर्णिया जिले से बच्चों के स्वजन को पूछताछ के लिए जीआरपी ने बुलाया है।

बिहार प्रांत के पूर्णिया जिले के अमगाठी गांव निवासी मौलाना दानिश आलम और मौलाना मुजम्मिल ने पुलिस के समक्ष पूछताछ में बताया कि बिदकी कोतवाली के जिगनी स्थित मदरसे में बच्चों को दीनी तालीम दिलाने के लिए यहां लाए थे। एसओ अनिल कुमार सिंह ने बताया कि चाइल्ड लाइन के अजय चौहान की ओर से जीडी में सूचना दर्ज कर बच्चों को उनके सिपुर्द कर दिया गया है। बच्चों की उम्र 10 से 15 वर्ष के बीच की है। दोनों मौलानाओं को छोड़कर सोमवार को फिर बुलाया गया है। बच्चों को सोमवार सुबह तांबेश्वर रोड स्थित बाल कल्याण समिति में पेश किया जाएगा।

Edited By: Jagran