Move to Jagran APP

सिपाही से बोला खनन माफिया... 'हट जा सामने से नहीं तो कुचल दूंगा', ट्रैक्टर की टक्कर से पुलिसकर्मी की मौत

Farrukhabad News अवैध खनन कर मिट्टी भरकर जा रहे ट्रैक्टर को रोकने पर सिपाही की जान लेने के मामले में उपनिरीक्षक ने तीन लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। तहरीर के अनुसार सिपाही को ट्रैक्टर रोकते देख चालक ने सिपाही को गाली देकर ललकारा था कि हट जा सामने से नहीं तो कुचल दूंगा। यह कहकर चालक ने सिपाही पर ट्रैक्टर चढ़ा दिया।

By Jagran News Edited By: Abhishek Pandey Published: Mon, 10 Jun 2024 08:17 AM (IST)Updated: Mon, 10 Jun 2024 08:17 AM (IST)
सिपाही से बोला खनन माफिया... 'हट जा सामने से नहीं तो कुचल दूंगा'

जागरण संवादताता, फर्रुखाबाद। अवैध खनन कर मिट्टी भरकर जा रहे ट्रैक्टर को रोकने पर सिपाही की जान लेने के मामले में उपनिरीक्षक ने तीन लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। तहरीर के अनुसार सिपाही को ट्रैक्टर रोकते देख चालक ने सिपाही को गाली देकर ललकारा था कि हट जा सामने से नहीं तो कुचल दूंगा। यह कहकर चालक ने सिपाही पर ट्रैक्टर चढ़ा दिया।

नवाबगंज थाने के उपनिरीक्षक संतोष कुमार ने बताया कि शनिवार रात वह सरकारी जीप के चालक शैलेंद्र सिंह व कांस्टेबल रोहित कुमार, होमगार्ड विजय सिंह के साथ गश्त पर थे। रात लगभग 2:30 बजे गांव नगला चंदन के निकट मिट्टी के अवैध खनन की सूचना मिली।

पुलिस बल नगला चंदन के निकट पहुंचा। इसी दौरान पुलिस ने मिट्टी ट्राली में भरे ट्रैक्टर व उसके पीछे बाइक से एक युवक को आता देखा। सिपाही रोहित ने ट्रैक्टर को रोकने का इशारा किया तो ट्राली के पीछे बाइक पर चल रहे युवक ने गाली देकर ट्रैक्टर के चालक से पुलिस को कुचलने के निर्देश दिए। इस पर चालक ने सिपाही को गाली देकर ललकारा कि सामने से हट जा नहीं तो कुचल दूंगा।

रोहित कुछ समझ पाता तब तक ट्रैक्टर चालक उसे कट मार दिया। ट्रैक्टर की टक्कर लगने से रोहित घायल हो गया। हमराही सिपाहियों ने टार्च की रोशनी में देखा और पहचान कर बताया कि ट्रैक्टर चालक का नाम प्रदीप यादव निवासी ग्राम चंदन नगला थाना नवाबगंज और बाइक सवार का नाम भूपेंद्र यादव निवासी ग्राम नगला लाहौरी मेरापुर है। वहीं बुलडोजर चालक सुमित भी भाग निकला।

पुलिस कर्मी घायल सिपाही रोहित को नगर के डा. शिवराम सिंह आर्य के यहां लाए। इसके बाद घायल सिपाही को लेकर लोहिया अस्पताल ले जाया गया। सिपाही की हालत गंभीर होने पर उसे सिटी अस्पताल भर्ती कराया। यहां रविवार सुबह सिपाही रोहित की मौत हो गई।

आधे घंटे आइसीयू में रखा रहा सिपाही का शव

बड़े भाई सचिन ने अस्पताल से शव नहीं उठने दिया। उन्होंने कहा कि आरोपितों की गिरफ्तारी के बाद ही शव उठने दिया जाएगा। अधिकारियों के समझाने पर जब वह तैयार हुए तब नर्सिंगहोम कर्मचारियों ने यह कह कर मना कर दिया कि रुपये जमा होने के बाद ही शव दिया जाएगा। एएसपी के हस्तक्षेप के बाद शव नर्सिंगहोम से पोस्टमार्टम हाउस में रखवाया गया।

सिपाही के घायल होने पर चौकी पर चलता रहा समझौते का प्रयास

सिपाही के घायल होने की जानकारी पर रात ही खनन माफिया ने बबना चौकी पहुंचकर पुलिस से मामले को निपटाने के लिए बातचीत शुरू की। माफिया द्वारा मामले में समझौता करने का प्रयास चल ही रहा था कि सुबह सिपाही की मौत की सूचना पुलिस को मिली। जानकारी होते ही खनन माफिया भी बात को बीच मे ही छोड़कर चौकी से निकल गए।

इसे भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद बसपा में मचा घमासान, प्रत्याशी ने संगठन पर लगाए गंभीर आरोप


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.