फर्रुखाबाद, जागरण संवाददाता। कमालगंज क्षेत्र के गांव लखनियापुर में दस साल के मासूम के खेल में बड़ी बहन की जान चली गई। घर पर रखा तमंचा लेकर खेल रहे मासूम ने बस इतना कहा- हैंड्स अप दीदी... और अचानक गोली चल गई। गोली लगते ही 15 वर्षीय चचेरी बहन की मौके पर ही मौत हो गई। घरवाले पहले घटना को छिपाते रहे लेकिन जानकारी के बाद पुलिस गांव पहुंची और शव कब्जे में लिया। घटना के बाद से पिता फरार है और पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। 

कमालगंज क्षेत्र के एक गांव निवासी युवक की 15 वर्षीय पुत्री रात में पड़ोस में रहने वाले चाचा के घर पर पुत्रवधू के पास सोने जाती थी। सोमवार रात भी वह चाचा के घर पर थी।

घर की दूसरी मंजिल पर बने कमरे में तमंचा रखा था, जिसे उठाकर चाचा का 10 वर्षीय बेटा खेलने लगा। वह पास में ही मौजूद चचेरी बहन के पास गया और हाथों से तमंचा उठाकर बोला- हैंड्स अप दीदी..। उसका इतना कहना हुआ और तमंचे से गोली चल गई, जो सीधे बहन के सीने में जा लगी। गोली लगते ही उसकी मौके पर मौत हो गई।

मासूम के हाथों गोली चलने से घर में अफरा तफरी मच गई। स्वजन रोने-बिलखने लगे लेकिन घटना को दबाने का प्रयास करते रहे। मंगलवार सुबह सूचना मिलने पर पुलिस गांव पहुंच गई और शव को कब्जे में ले लिया। पुलिस के आने से पहले पिता बबलू तमंचा लेकर फरार हो गया। पुलिस को घटनास्थल से खोखा मिला है।

रचना के स्वजन ने कार्रवाई से इनकार किया है। मृतका के भाई ने कहा कि वह कोई कार्रवाई नहीं चाहता है। पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार मीणा ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है।

Edited By: Abhishek Agnihotri

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट