अयोध्या, जेएनएन। सेंट्रल शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी ने बुधवार को यह कह कर विवाद को जन्म दे दिया कि कांग्रेस  महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा खूबसूरत हैं। उन्हें राजनीति में आने की जरूरत नहीं थी। मेरे पास आतीं तो मैं अपनी फिल्म रामजन्मभूमि में जफर खान की बहू का रोल देता। वे यहीं तक नहीं रुके, स्वर्गीय इंदिरा गांधी के परिवार को मुस्लिम तक करार दे डाला।

अयोध्या में राममंदिर निर्माण का दावा करते हुए कहा अगली बार भव्य राममंदिर में ही रामलला का दर्शन करूंगा। उन्होंने कहा, कांग्रेस पहले भगवान राम के वजूद को नकार चुकी है। निर्मोही अखाड़ा की सुप्रीम कोर्ट में याचिका पर रिजवी ने कहा सुप्रीम कोर्ट के मध्यस्थता पैनल से संतुष्ट हैं। उन्होंने स्थान बदलने की जरूरत को भी खारिज किया और कहा, जहां भगवान राम पैदा हुए, वहीं मंदिर निर्माण की पहल हो।

राम की जन्मभूमि फिल्म के प्रोड्यूसर वसीम रिजवी ने आरोप लगाया कि समाजवादी गुंडों के दबाव में अयोध्या में जिला प्रशासन उनकी फिल्म को रिलीज नहीं होने दे रहा है। इसकी शिकायत वे मुख्यमंत्री से करेंगे। उन्होंने दावा किया कि 29 मार्च को पूरे देश में एक साथ फिल्म रिलीज होगी। फिल्म 1992 में सपा सरकार में निहत्थे कारसेवकों की हत्या पर आधारित है। इसमें ट्रिपिल तलाक, पाक प्रायोजित आतंकवाद का भी मुद्दा उठाया गया है।

रिजवी ने फिल्म के बहाने सपा संरक्षक पर जमकर निशाना साधा। कहा, मुस्लिमों का रहनुमा बनने के लिए मुलायम ङ्क्षसह यादव ने कारसेवकों पर गोली चलवाई। उन्होंने बहूबेगम मकबरा प्रकरण में हाईकोर्ट जाने की बात कही। इससे पूर्व सुप्रीमकोर्ट के दो वकीलों के साथ रामलला का दर्शन किया। रीडगंज स्थित एक होटल में हुई पत्रकार वार्ता में फिल्म के कलाकार जनार्दन पांडेय भी मौजूद थे।

वसीम रिजवी के इस विवादित बयान पर कांग्रेस में गुस्सा है। पार्टी की यूथ शाखा के प्रदेश महासचिव शरद शुक्ल ने वसीम रिजवी के खिलाफ कोतवाली नगर में तहरीर दी है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप