अयोध्या [प्रमोद दुबे]। श्रीराम मंदिर भूमि पूजन की तिथि नजदीक आने के साथ ही अयोध्या में उत्सव बढ़ता जा रहा है। खुशियां सिर्फ रामनगरी तक ही सीमित नहीं हैं। शहर से लेकर गांव तक घरों व प्रतिष्ठानों के शीर्ष पर राम ध्वज शोभायमान हो रहा है। रामनगरी के अधिकांश घरों यहां तक कि डिवाइडर पर भी भगवा ध्वज की लंबी श्रृंखला सज गई है। रामभक्तों के वाहन पर भी भगवान राम की छवि वाले भगवा झंडे लग गए हैं।

श्रीराम मंदिर निर्माण का समय नजदीक आने के दौरान मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम की नगरी अयोध्या ही नहीं जुडवा शहर से लेकर गांव तक के लोग अपने घरों पर भगवा लगाकर खुशी का इजहार करते दिख रहे हैं। अयोध्या की दुकानें हों या शहर का चौक, फतेहगंज, देवकाली, मकबरा व ग्रामीण क्षेत्र हर तरफ छोटे से लेकर बड़े-बड़े भगवा ध्वज सजे हैं। श्रद्धालु इसे खरीदने के लिए सुबह से ही पहुंच रहे हैं। इसे बेचने वाले दुकानदारों का भी हौसला ऐसा है कि ध्वज देते समय जय श्रीराम के जयकारे भी लगवा रहे है। उनके इस उत्साह से आस-पास भक्तिमय माहौल बन जाता है। इतना ही नही ग्रामीण क्षेत्रों के लोग भले ही भूमि पूजन के समय रामनगरी न पहुंच सकें पर घरों पर भगवा ध्वज लगाने व दीपोत्सव की तैयारी में अभी से लग गए हैं।

दोहरी खुशी में झूम रहे राम के प्रथम विश्राम स्थल के लोग : भगवान श्रीराम ने पत्नी सीता और भाई लक्ष्मण के साथ वनवास जाते हुए तमसा तट गौराघाट-गयासपुर पर पहली रात्रि विश्राम किया था, जिसका जिक्र श्रीरामचरितमानस में चौपाई 'बालक वृद्ध विहाई गृह लगे लोग सब साथ, तमसा तीर निवास किए प्रथम दिवस रघुनाथ' से प्रमाणित किया गया है। अब उस क्षेत्र के लोग राममंदिर निर्माण की खुशी में तो झूम ही रहे हैं तो वहीं भगवान से जुड़े इस स्थल के विकास की आस की खुशी भी दर्शा रहे हैं। गयासपुर के चंद्रभूषण सिंह, गौरा के सेवानिवृत्त शिक्षक रामबक्स पांडेय, जगदीश पांडेय का कहना है कि राम मंदिर निर्माण होने का सपना अब जाकर पूरा हुआ है। भगवान की कृपा होगी तो सरकार उनसे जुड़े स्थल के विकास पर ध्यान देगी।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021