निज प्रतिनिधि, एटा: सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) को लेकर जिलाधिकारी ने कड़े निर्देश जारी किए हैं। अधीनस्थ अधिकारियों को हिदायत देते हुए कहा है कि यदि प्रणाली में किसी तरह की गड़बड़ी पाई जाती है तो संबंधितों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

जिलाधिकारी जेपी त्रिवेदी ने कहा कि पर्यवेक्षणीय अधिकारी की उपस्थिति में खाद्यान्न का वितरण एक साथ कराया जाए जिससे कि कार्ड धारकों को अनावश्यक परेशानी का सामना न करना पड़े। प्रत्येक उचित दर विक्रेता की दुकान पर शिकायत पुस्तिका उपलब्ध रहे। समस्त उचित दर विक्रेताओं की नियमित व आकस्मिक जाच की जाए और अनियमितता पाए जाने पर नियमानुसार कार्रवाई करें। उन्होंने साफ कहा कि उपभोक्ताओं में सुचारू वितरण करने के लिए नगरीय क्षेत्रों में जिला पूर्ति अधिकारी व ग्रामीण क्षेत्रों में उपजिलाधिकारी उत्तरदायी होंगे।

डीएम ने कहा कि सभी उचित दर विक्रेता माह की 16 से 22 तारीख तक आवंटित खाद्यान्न की धनराशि नियमानुसार जमा कर दें। ब्लाक गोदाम में आवंटन के सापेक्ष खाद्यान्न, चीनी की प्रथम स्टेज की सत्यापन रिपोर्ट महीने की 23 तारीख तक जिला पूर्ति कार्यालय और एक प्रति मेरे समक्ष प्रेषित करें। अगले चरणों में खाद्यान्न, चीनी के उठान, स्टॉक पहुंचने का भी सत्यापन किया जाए। इसमें किसी स्तर पर लापरवाही पाए जाने पर कड़ी कार्रवाई करते हुए मुझे अवगत कराएं। उन्होंने सभी एसडीएम, जिला खाद्य वितरण अधिकारी, सभी खंड विकास अधिकारी और जिला प्रबंधक पीसीएफ को निर्देशित किया है कि कड़ाई से अनुपालन करते हुए सार्वजनिक वितरण प्रणाली को सफल बनाएं।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर