देवरिया: मदनपुर थाना परिसर परिसर में चोरी के आरोप में हिरासत में लिए गए युवक की पुलिस कर्मियों द्वारा की गई पिटाई के मामले में एसपी ने एक बार फिर बड़ी कार्रवाई की है। थाने पर उस समय तैनात रहे उप निरीक्षक, दीवान व सिपाही को तत्काल प्रभारी से एसपी ने हटा दिया है। साथ ही यूपी 112 में तैनात सिपाही के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की भी संस्तुति की है।

महेन गांव के सुमित गोस्वामी पर मोबाइल चुराने का आठ जनवरी को आरोप लगा। यूपी 112 पर तैनात पुलिसकर्मी सुमित को हिरासत में लिए और थाने में बेरहमी से सुमित की पिटाई की गई। इसके बाद इस पूरे प्रकरण का वीडियो वायरल हो गया। इस मामले में एसपी ने उसी रात पिटाई करने वाले हेड कांस्टेबल लाल बिहारी, सिपाही चंद्र मौलेश्वर सिंह व जितेंद्र यादव को निलंबित करते हुए उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया। उप निरीक्षक रमाशंकर यादव, दीवान राम मिलन गिरी, मुंशी प्रदीप वर्मा का स्थानान्तरण कर दिया है।

आरोप है कि इन लोगों ने भी लापरवाही की। अगर दारोगा के सामने उसकी पिटाई की गई तो इन्हें भी बीच बचाव करना चाहिए। जबकि दीवान व मुंशी ने उसका दाखिला नहीं किया। एसपी डा.श्रीपति मिश्र ने कहा कि मामले में इनका स्थानान्तरण किया गया है। जबकि यूपी 112 में तैनात एक सिपाही के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की संस्तुति की गई है। साथ ही साथ हटाए गए पुलिस कर्मियों व निलंबित पुलिस कर्मियों के खिलाफ जांच चलती रहेगी।

---------------------

वीडियो वायरल करने वाली सिपाही भी हटाई गई

मदनपुर थाने से वीडियो वायरल होने के बाद एसपी ने इसकी जांच साइबर क्राइम सेल व स्वाट टीम से कराई। जांच में पता चला कि थाने पर तैनात महिला सिपाही रोमा ने ही इसका वीडियो बनाया था और उसी ने वायरल किया है। इसकी पुष्टि होने के बाद एसपी ने महिला सिपाही को भी थाने से हटा दिया है। इनके खिलाफ भी विभागीय जांच चलती रहेगी। बताया जा रहा है कि इस महिला सिपाही ने पूर्व में तैनात रहे एक निलंबित इंस्पेक्टर को वह वीडियो भेजा था। इसके बाद वीडियो वायरल हो गया था।

Edited By: Jagran