जागरण संवाददाता, चित्रकूट : बाल अपराध व विवाह को रोके के लिए गंभीरता के काम करें। यदि कही से सूचना आती है तो उसमें तुरंत कार्रवाई की जाए। यह निर्देश पुलिस उपाधीक्षक राजापुर एसपी सोनकर ने राघव प्रेक्षागार पुलिस कार्यालय में विशेष किशोर पुलिस इकाई व एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिग यूनिट की मासिक गोष्ठी दिए।

उन्होंने सभी थानों के पुलिस व बाल कल्याण अधिकारियों से कहा कि बच्चों के संबंध में नियमानुसार कार्यवाही करें। विधि का उल्लंघन करने वाले बाल अपचारियों के साथ अच्छा व्यवहार किया जाए। पुलिस कर्मियों को किशोर न्याय अधिनियम 2015 के संबंध में जानकारी दी। कहा कि गुमशुदा बच्चों की बरामद होने पर तत्काल चाइल्ड लाइन को सूचना दें। मिशन शक्ति, बाल सुरक्षा व महिला हेल्पलाइन से संबंधित जागरूकता पंपलेट्स वितरित किए जाए। जिला प्राबोशन अधिकारी रामबाबू विश्वकर्मा, चाइल्ड लाइन प्रभारी डा सौरभ सिंह, महिला थाना प्रभारी अनुपम श्रीवास्तव, प्रभारी एएचटीयू चित्रसेन सिंह, प्रभारी वनस्टाप सेंटर प्रेरणा श्रीवास्तव, संध्या गुप्ता महिला शक्ति रही। साइबर क्राइम का अनावरण कर दें राहत

अपर पुलिस अधीक्षक शैलेंद्र कुमार राय ने राघव प्रेक्षागार में साइबर अपराधों के प्रशिक्षण वेबिनार किया। सभी थाना प्रभारी से कहा कि साइबर क्राइम में ध्यान दें। मामलों का अनावरण कर लोगों को राहत पहुंचाएं।

Edited By: Jagran