Move to Jagran APP

Ram Navami 2024: तपोभूमि में 11 लाख दीपों से मनाया जाएगा श्रीराम जन्मोत्सव, अयोध्या जाने वालों को मिलेगी ये खास सुविधा

Ram Navami 2024 पवित्र और धार्मिक नगरी चित्रकूट का गौरव दिवस रामनवमी पर पिछले दो वर्षों से मनाया जा रहा है। भगवान श्रीराम ने अपने वनवास के साढ़े 11 साल चित्रकूट में बिताए थे। इसलिए नगर के प्रमुख स्थानों पर 11 लाख दीप जलाने का लक्ष्य रखा गया है। अयोध्या में रामनवमी मेला चल रहा है। इसको देखते हुए यात्रियों के लिए खास सुविधा दी जाएगी।

By Jagran News Edited By: Swati Singh Tue, 16 Apr 2024 08:42 PM (IST)
तपोभूमि में 11 लाख दीपों से मनाया जाएगा श्रीराम जन्मोत्सव

जागरण संवाददाता, चित्रकूट। प्रभु श्रीराम की तपोभूमि में रामनवमी पर 11 लाख दीप जलाकर राम जन्मोत्सव मनाया जाएगा। मंदाकिनी तट के घाटों समेत कामदगिरि, मठ व मंदिर में एक साथ लोग दीपदान करेंगे। यह विशेष आयोजन चित्रकूट गौरव दिवस के रूप में किया जा रहा है।

पवित्र और धार्मिक नगरी चित्रकूट का गौरव दिवस रामनवमी पर पिछले दो वर्षों से मनाया जा रहा है। भगवान श्रीराम ने अपने वनवास के साढ़े 11 साल चित्रकूट में बिताए थे। इसलिए नगर के प्रमुख स्थानों पर 11 लाख दीप जलाने का लक्ष्य रखा गया है। साधु-संत और स्वयंसेवी संस्थाओं व विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधियों ने बैठक कर इसकी रूपरेखा बना ली है।

घरों में दीपक जलाकर मनाएंगे उत्सव

दिगंबर अखाड़ा भरत मंदिर के महंत दिव्यजीवनदास ने बताया कि रामनवमी पर सभी तपोभूमिवासी अपने-अपने क्षेत्र व घरों में दीपक जलाकर नगर का गौरव दिवस मनाएंगे। ये रामनवमी खास होने वाली है। 

रामनवमी मेले के लिए रोडवेज चला रहा 400 बसें

अयोध्या में रामनवमी मेला चल रहा है। भगवान राम के दर्शन और मेले में शामिल होने के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु रामनगरी पहुंच रहे हैं। परिवहन निगम ने भी इसके लिए वृहद स्तर पर तैयारियां की हैं। अयोध्या सहित पांच क्षेत्रों की करीब 400 बसों का आवागमन 20 अप्रैल तक नियमित होगा।

बसों को लेकर मिला निर्देश

पहले लखनऊ क्षेत्र से अयोध्या के लिए 50 बसें लगाई गई थीं लेकिन, लगातार बढ़ती भीड़ से लखनऊ के अलावा आजमगढ़, देवीपाटन व गोरखपुर क्षेत्र से 200 बसों का संचालन कराने के आदेश हुए हैं, जबकि अयोध्या क्षेत्र को अकेले 200 बसों का विभिन्न मार्गों पर नियमित आवागमन करना है। अयोध्या डिपो एआरएम आदित्य प्रकाश को ही मेलाधिकारी बनाया गया है।

यह भी पढ़ें: Ram Lalla Surya Tilak: नवमी पर 12:16 म‍िनट से शुरू होगा रामलला का सूर्य अभि‍षेक, ललाट पर पड़ेंगी किरणें