Move to Jagran APP

यूपी के इस ज‍िले के लोगों के ल‍िए खुशखबरी, 16 करोड़ की लागत से होगा ये काम; खाका हुआ तैयार

UP News चंदौली के बाबा कीनाराम स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय (मेडिकल कालेज) परिसर में अलग से 50 बेड का क्रिटिकल केयर यूनिट (सीसीयू) बनेगा। इस पर 16 करोड़ रुपये की लागत आएगी। जबकि चिकित्सा महाविद्यालय में 20 बेड का सीसीयू पहले से बनकर तैयार है। आधुनिक सुविधाओं से यह सुसज्जित होगा। जून के आखिरी तक इसका निर्माण भी प्रारंभ हो जाएगा।

By pradeep kumar singh Edited By: Vinay Saxena Published: Mon, 10 Jun 2024 12:59 PM (IST)Updated: Mon, 10 Jun 2024 12:59 PM (IST)
उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आद‍ित्‍यनाथ। - फाइल फोटो

जागरण संवाददाता, चंदौली। राज्य चिकित्सा महाविद्यालय, ट्रामा सेंटर के बाद अब एक और उपहार जनपद वासियों को मिलने जा रहा है। इससे स्वास्थ्य ढांचा भी मजबूत होगा। बाबा कीनाराम स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय (मेडिकल कालेज) परिसर में अलग से 50 बेड का क्रिटिकल केयर यूनिट (सीसीयू) बनेगा। इस पर 16 करोड़ रुपये की लागत आएगी। जबकि चिकित्सा महाविद्यालय में 20 बेड का सीसीयू पहले से बनकर तैयार है।

आधुनिक सुविधाओं से यह सुसज्जित होगा। जून के आखिरी तक इसका निर्माण भी प्रारंभ हो जाएगा। सीसीयू के 70 बेड का लाभ जनपद के साथ ही समीपवर्ती बिहार के लोगों को भी मिलेगा। नौबतपुर (सैयदराजा) में नेशनल हाईवे के किनारे निर्माणाधीन चिकित्सा महाविद्यालय में ही इस यूनिट के निर्माण की मंजूरी भी मिल गई है। इसमें दस करोड़ की लागत से भवन का निर्माण होगा। छह करोड़ से उपकरण समेत अन्य संसाधन मुहैया कराए जाएंगे।

यूनिट का निर्माण परिसर की करीब 3000 वर्गमीटर भूमि पर होगा। इसके लिए डीपीआर तैयार कर लिया गया है। शासन ने कार्यदायी संस्था उत्तर प्रदेश पावर प्रोजेक्ट कारपोरेशन (यूपीपीसीएल) को इसके निर्माण की जिम्मेदारी दी है। संस्था ने सर्वे कर निर्माण कार्य को शुरू करने की सहमति जताई है।

यूनिट में होंगी ये सुविधाएं

यह पांच मंजिला होगा। क्रिटिकल केयर की इमरजेंसी में छह ट्रायल बेड होंगे। इसी में ही दो माइनर आपरेशन व दो मेजर आपरेशन कक्ष होंगे। दो - दो आपरेशन कक्ष प्रथम व द्वितीय तल में होंगे। साथ ही एक अल्ट्रासाउंड कक्ष होगा। महिलाओं के लिए एक छह बेड का मेटरनिटी वार्ड सहित दो लेबर टेबल, एक स्टेरलाइजेशन कक्ष होगा। ब्लाक में दो आइसीयू आठ-आठ बेड के उपलब्ध रहेंगे।

यह है क्रिटिकल केयर यूनिट

क्रिटिकल केयर यूनिट उन लोगों के लिए चिकित्सा देखभाल है, जिन्हें जीवन-घातक चोटें और बीमारियां हैं । यह आमतौर पर गहन देखभाल इकाई (आइसीयू) में होता है। विशेष रूप से प्रशिक्षित स्वास्थ्य देखभाल प्रदाताओं की एक टीम 24 घंटे देखभाल प्रदान करती है। इसमें महत्वपूर्ण संकेतों की लगातार निगरानी करने के लिए मशीनों का उपयोग शामिल है।

मेडिकल कालेज में सितंबर से प्रारंभ होगी चिकित्सा की पढ़ाई

चंदौली: मेडिकल कालेज का 90 प्रतिशत से अधिक काम पूरा हो चुका है। सितंबर से पढ़ाई प्रारंभ होने की उम्मीद है। जुलाई व अगस्त में प्रवेश की प्रक्रिया पूरी होगी। जानकारी के अनुसार, 15 एकड़ में 200 करोड़ की लागत से नौबतपुर में मेडिकल कालेज का निर्माण चल रहा है। केपीसी को मेडिकल कालेज का जिम्मा मिला है। गेट के साथ ही प्रशासनिक बिल्डिंग से लेकर एकेडमिक बिल्डिंग भी बनकर तैयार हो चुकी है। मेडिकल में 100 सीटों पर परीक्षा के जरिए प्रवेश होगा। परिसर का सुंदरीकरण का कार्य चल रहा।

स्वास्थ्य विभाग की ओर क्रिटिकल केयर यूनिट की स्थापना मेडिकल कॉलेज परिसर में ही की जानी है। इस यूनिट में अति गंभीर मरीजों को उपचार जिले में ही उपलब्ध होगा। यूनिट के निर्माण की स्वीकृति मिल चुकी है। जल्द ही कार्य प्रारंभ होंगे।- डॉ. वाईके राय, मुख्य चिकित्साधिकारी।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.