जागरण संवाददाता, चंदौली : बैंकों की कार्यप्रणाली पर भी कोरोना का साया छाया हुआ है। देश में कुछ स्थानों पर बैंक कर्मियों के संक्रमित होने का मामला सामने आने पर आरबीआइ गंभीर हो गया है। बैंक शाखाओं को 31 मार्च तक सुबह 10 से दोपहर दो बजे तक खोलने का निर्देश दिया गया है। इस दौरान सिर्फ नकदी का लेन-देन, चेक क्लियरेंस और सरकारी विभागों की ट्रेजरी का काम किया जाएगा जबकि नए खाता खोलने, बैंक ऋण, केवाईसी समेत अन्य बैंकिग कामकाज ठप रहेंगे।

सरकार भीड़-भाड़ वाले स्थानों को लॉकडाउन कर रही है। रेलवे स्टेशन, बस अड्डे बंद कर दिए गए। वहीं सरकारी दफ्तरों में भी जनता दर्शन रोक दिया गया। यहां तक की विभागीय कार्यों को पूरा करने को लोगों की डिटेल प्राप्त करने के लिए विभाग अब सोशल मीडिया का सहारा लेने लगे हैं। लेकिन बैंकों पर ताला जड़ना संभव नहीं है। ऐसे में आरबीआइ ने नई गाइडलाइन जारी करते हुए बैंकों को सुबह 10 से दोपहर दो बजे तक खोलने का निर्देश दिया है। इस दौरान सिर्फ नकदी काउंटर पर काम होगा। लोग पैसे की जमा और निकासी कर सकते हैं। इसके अलावा नए बैंक खातों को खोलने, आधार लिक, बैंक ऋण, केवाईसी समेत अन्य कामकाज पूरी तरह से ठप रहेंगे। स्थानीय स्तर पर शाखा प्रबंधकों की ओर से भी पहल की जा रही है। एहतियात के तौर पर 50 फीसदी कर्मचारियों को छुट्टी दी जा रही है। ताकि भीड़-भाड़ कम रहे और एक मीटर से अधिक दूरी पर कर्मियों को बैठाकर काम कराया जा सके। जमा-निकासी काउंटर के समीप रस्सी बांधकर दूरी बढ़ाई गई है। वहीं सभी कर्मियों को हमेशा मास्क पहनकर काम करने की सलाह दी जा रही। बैंकों में तैनात सुरक्षाकर्मियों को भी मुस्तैद किया गया है। गेट पर ही लोगों से जानकारी ले रहे कि आखिर किस काम से आए हैं। यदि नकदी लेन-लेन के अलावा अन्य किसी कार्य की मंशा से पहुंचे हैं तो बाहर से ही वापसी का रास्ता दिखाया जा रहा। हालात सामान्य होने पर आने की अपील की जा रही है। कोरोना के मद्देनजर बैंक अब सुबह 10 से दोपहर दो बजे तक ही खुले रहेंगे। सिर्फ नकदी लेन-देन, चेक क्लियरेंस व सरकारी विभागों के ट्रेजरी के काम निबटाए जाएंगे। लोग नकदी जमा और निकासी के लिए ही बैंक जाएं। हालात सामान्य होने पर ही अन्य कार्य किए जाएंगे।

पवन कुमार झा, अग्रणी जिला प्रबंधक

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस