जेएनएन, बिजनौर। लाकडाउन चल रहा है। हर एक कारोबार बंद है। पुलिस चालान कर रही है, महामारी अधिनियम में मुकदमे दर्ज कर रही है। अगर नहीं रुक पा रहा तो वह है कबाड़ी बाजार में चोरी-छिपे वाहनों का कटान। हालांकि सोमवार को पुलिस ने कबाड़ी बाजार में एक दुकान को बंद कर वाहनों का काटने का मामला पकड़ा, लेकिन पुलिस की चौकसी के बावजूद वाहनों को काटने का काम जारी होने से पुलिस की सतर्कता पर सवाल खड़ा हो रहा है।

आपातकालीन सेवाओं और आवश्यक वस्तुओं के प्रतिष्ठानों को छोड़कर नगर में सब कुछ बंद है। जाहिर सी बात है कि कबाड़ी बाजार भी बंद होना चाहिए, लेकिन ऐसा हो नहीं रहा है। कबाड़ी बाजार के कुछ बड़े गोदामों में वाहनों को खड़ा कर शटर गिराकर वाहनों को काटा जा रहा है। सोमवार को पुलिस ने एक गोदाम में वाहनों को काटने का मामला पकड़ा। दरअसल, पुलिस को सूचना मिली थी कि बंद गोदाम में चोरी के वाहन काटे जा रहे हैं। पुलिस ने मौके पर मिला सामान कब्जे में ले लिया और इस काम से जुड़े लोगों को थाने ले जाया गया। पुलिस मामले में क्या कार्रवाई करती है, यह देखना होगा। लेकिन पुलिस की चौकसी के बावजूद कबाड़ी बाजार के गोदाम में वाहन कटान के लिए कब और कैसे पहुंच रहे हैं, यह बड़ा सवाल है। या तो पुलिस ढील बरत रही है या फिर सुविधा शुल्क के बलबूते पर यह अवैध कारोबार फलफूल रहा है।

-इनका कहना है

जाब्तागंज चौकी की पुलिस ने कबाड़ी बाजार में वाहनों के कटान का मामला पकड़ा है। मामले की जांच की जा रही है। वाहन चोरी के होने पर मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

-राजीव चौधरी, एसएसआइ नजीबाबाद

Edited By: Jagran