Move to Jagran APP

वाराणसी-भदोही के लोगों के लिए खुशखबरी, ओवरब्रिज निर्माण का रास्ता हुआ साफ; जल्द शुरू होगा कार्य

UP News भदोही-वाराणसी के मध्य कंधिया रेलवे फाटक कर ओवरब्रिज निर्माण जल्द शुरू होगा। ब्रिज के मानचित्र को लेकर रेलवे व नेशनल हाईवे के बीच डेढ़ साल से बना अवरोध समाप्त हो गया है। हाईवे का 650 करोड़ की लागत काम चल रहा है। वाराणसी से कपसेठी के बीच फोरलेन सड़क का निर्माण कार्य पिछले एक साल से प्रगति पर है।

By Vibhuti Narayan Dubey Edited By: Abhishek Pandey Published: Sun, 05 May 2024 12:03 PM (IST)Updated: Sun, 05 May 2024 12:03 PM (IST)
भदोही-वाराणसी के मध्य कंधिया रेलवे फाटक कर

संवाद सहयोगी, भदोही। भदोही-वाराणसी के मध्य कंधिया रेलवे फाटक कर ओवरब्रिज निर्माण जल्द शुरू होगा। ब्रिज के मानचित्र को लेकर रेलवे व नेशनल हाईवे के बीच डेढ़ साल से बना अवरोध समाप्त हो गया है। ब्रिज का 30 प्रतिशत कार्य रेलवे कराएगा जबकि 70 प्रतिशत निर्माण हाईवे कराएंगा।

हाईवे का 650 करोड़ की लागत काम चल रहा है। वाराणसी से कपसेठी के बीच फोरलेन सड़क का निर्माण कार्य पिछले एक साल से प्रगति पर है। भदोही के कारपेट सिटी स्थित मोरवा नदी पर पुल का निर्माण प्रारंभ हो चुका है जबकि कंधिया फाटक पर जल्द निर्माण शुरू होगा।

जल्द ही रेलवे शुरू करेगा निर्माण

पिछले माह उत्तर रेलवे के मुख्य प्रशासनिक अधिकारी (सीएओ) सुरेश कुमार सपरा ने कंधिया फाटक का स्थलीय निरीक्षण किया था। बताया कि मानचित्र व अन्य बिंदुओं पर सहमति बन चुकी है, जल्द ही रेलवे अपने हिस्से का निर्माण कार्य प्रारंभ कराने वाला है। उधर अपने हिस्से का कार्य शुरू करने के लिए नेशनल हाईवे भी निर्माण सामग्री जल्द गिरा देगा।

ओवरब्रिज का निर्माण होने से भदोही-वाराणसी के बीच रेलवे फाटक का गतिरोध समाप्त हो जाएगा। रेलवे फाटक के कारण हर रोज सैकड़ों लोगों की यात्रा प्रभावित होती है। ओवरब्रिज का निर्माण कार्य सितंबर 2022 में उत्तर प्रदेश राज्य सेतु निगम व रेलवे ने एक साथ प्रारंभ किया था।

72 करोड की इस परियोजना पर करीब दस प्रतिशत काम होने के बाद रोक दिया गया। रेलवे ने भी अपने हिस्से का निर्माण कार्य शुरू कराया था लेकिन नेशनल हाईवे अपने नक्शे के हिसाब से ब्रिज का निर्माण कराना चाहती था जबकि रेलवे इसके लिए तैयार नहीं था। रेल मंत्रालय और नेशनल हाईवे अधिकारियों के बीच इसे लेकर लंबे समय तक पेंच फंसा रहा।

डेढ करोड रुपये का हुआ नुकसान

ब्रिज निर्माण का कार्य रोका गया तब तक उप्र राज्य सेतु निगम और रेलवे के लगभग डेढ करोड रुपये खर्च हो गए थे। दोनों ओर पिलर की ढलाई का कार्य हो चुका था लेकिन इसी बीच वाराणसी-मछलीशहर वाया भदोही फोरलेन सड़क निर्माण के प्रोजेक्ट को हरी झंडी मिल गई। ऐसे में नेशनल हाईवे ने निर्माण कार्य रोकवा दिया।

नेशनल हाईवे के अधिकारियों का कहना था कि वाराणसी-मछलीशहर हाईवे के मानक के अनुसार ब्रिज का निर्माण नहीं हो रहा है। ऐसे में अब नेशनल हाईवे अथार्टी इसका निर्माण कराएगी।

जल्द ही शुरू होगा ब्रिज का काम

650 करोड लागत वाले नेशनल हाईवे 731-बी के तहत सड़क, पुल, पुलिया, नाला, डिवाइडर व प्रकाश व्यवस्था सहित प्राधिकरण से संबंधित समस्त कार्य कराए जाने हैं। इस क्रम में मोरवा नदी पर पुल का निर्माण शुरू करा दिया गया है। जल्द ही कंधिया फाटक पर ओवरब्रिज का काम शुरू होगा। इस बारे में रेलवे से भी सहमति बन चुकी है। मृत्युंजय सिंह, अधिशासी अभियंता, राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण प्राधिकरण (वाराणसी)

इसे भी पढ़ें: रायबरेली में आसान नहीं होगी BJP की राह, प्रत्याशी के सामने गुटबाजी का खतरा; कई नेताओं की गैरमौजूदगी बनी चर्चा


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.