बस्ती: आबेडकरनगर जिले के एक मदरसे में प्रवेश दिलाने के नाम पर स्वजन की अनुमति के बिना झारखंड के गोड्डा क्षेत्र से लाए जा रहे 10 नाबालिगों को आरपीएफ ने बस्ती रेलवे स्टशेन पर छुड़ा लिया। आठ से 14 साल उम्र वाले नाबालिगों को ले जा रहे बिहार के भागलपुर के मेघपुर गांव (थाना अमदंडा) निवासी मो. सरफराज पुत्र शेख सलीम नाम के युवक को हिरासत में लिया है। बच्चों को चाइल्ड लाइन के सिपुर्द कर दिया गया है।

आरपीएफ की टीम ने स्टेशन पर दिन में लगभग तीन बजे जांच के दौरान संदेह होने पर रोका तो युवक सफाई देने लगा। बताया कि बच्चों को वह मदरसे में एडमिशन दिलाने ले जा रहा है। इस संबंध में वह कोई दस्तावेज नहीं दे सका। आरपीएफ निरीक्षक नरेंद्र यादव ने बताया कि शुक्रवार को कास्टेबल कृष्णमोहन पाठक, किरण सिंह, महिमा यादव और जीआरपी निरीक्षक अनिल देव यादव, धीरेंद्र यादव संयुक्त रूप से स्टेशन पर गश्त कर रहे थे। प्लेटफार्म संख्या एक के पश्चिमी छोर पर युवक नौ नाबालिगों के साथ दिखा। इनमें एक बच्ची भी थी। युवक ने पूछताछ में अपना नाम सरफराज बताया और असहज हो गया। बताया कि नाबालिगों को लेकर वह सुबह भागलपुर में जम्मूतवी एक्सप्रेस ट्रेन में सवार हुआ था। आरपीएफ निरीक्षक ने बताया कि बरामद किए गए सभी बच्चे झारखंड के गोड्डा के रहने वाले है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने नाबालिग बच्चों के बिना प्राधिकार परिवहन को अनुचित माना। ऐसे में सभी 10 नाबालिग बच्चों को स्टेशन मास्टर हितेश पाडेय की उपस्थिति में चाइल्ड लाइन के सिपुर्द कर दिया गया।

Edited By: Jagran