शाहजहांपुर, जागरण संवाददाता। युवक की मुर्गा बनाकर पिटाई करने के दो और आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। हालांकि मुख्य आरोपित को अभी तक पुलिस गिरफ्तार नहीं कर सकी।

आपसी विवाद में युवक की मुर्गा बनाकर पिटाई करते 13 अप्रैल को इंटरनेट मीडिया पर वीडियो वायरल हुआ था। इस प्रकरण की पुलिस के उच्चाधिकारियों को ट्वीट के बाद सदर पुलिस ने पूरे प्रकरण की छानबीन की। जिसके बाद पता चला कि शहर के चौक कोतवाली क्षेत्र के हुसैनपुरा मुहल्ला निवासी राजीव भारद्वाज पीड़ित है। राजीव की तहरीर के आधार पर पुलिस ने साउथ सिटी निवासी प्रतीक तिवारी, सदर क्षेत्र के ही बहादुरगंज मुहल्ला निवासी समित्र व चार अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया।

जांच पड़ताल में नरेंद्र गुप्ता, शांतनू व सोनी के नाम भी सामने आए। पुलिस ने शनिवार को ही शांतनू व सोनी को पकड़ लिया था। जिन्हें एक घंटे बाद ही नगर मजिस्ट्रेट कोर्ट से जमानत मिल गई थी। जबकि समित्र व नरेंद्र को रविवार को पकड़ लिया। जबकि मुख्य आरोपित प्रतीक तिवारी अभी पुलिस की पकड़ से दूर है। राजीव के मुताबिक प्रतीक सट्टे व जुआ का कारोबार करता है। एएसपी सिटी संजय कुमार ने बताया कि मुख्य आरोपित को भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

धोखे सेे महिला के जेवर लेकर फरार  : खुद को जीआरपी सिपाही बताकर एक युवक ने ई-रिक्शा चालक की मदद से महिला के जेवर उतरवा लिए। इसके बाद महिला को गुमराह कर एक लिफाफे में पत्थर भरकर दे दिए। ठगी का अहसास होने पर महिला ने सदर थाने में मुकदमा दर्ज कराया है। सदर थाना क्षेत्र के बृज बिहार कालोनी निवासी मदन मुरारी शुक्ला ने सदर थाने में दर्ज कराए मुकदमे में कहा कि शनिवार को अपनी भाभी अखिलेश कुमारी को हरदोई जाने के लिए रोडवेज बस स्टैंड पर छोड़कर आए थे। बस स्टैंड पर सवारी का इंतजार करते समय एक युवक उनके पास पहुंच गया। खुद को उनका पड़ोसी बताते हुए ई-रिक्शा से छोड़ने की बात कही। मदन के मुताबिक ई-रिक्शा के पास एक युवक पहले से खड़ा था जिसने खुद को जीआरपी सिपाही बताया। इसके बाद अखिलेश कुमारी ई-रिक्शा पर बैठ गई। कुछ दूर चलने के बाद दोनों ने यह कहते हुए उनकी दो अंगूठी, सोने की चेन, कुंडल आदि उतरवाकर एक लिफाफे में रख लिए कि आगे उसके मालिक मिल सकते है। ई-रिक्शे पर सवारी बैठाने को लेकर नाराज हो सकते है। जेवर न पहने होने पर उन्हें परिवार का एक सदस्य बता देंगे। अखिलेश कुमारी दोनों के झांसे में आ गई। कचहरी स्थित एक पेट्रोल पंप के पास लिफाफा वापस दे दिया। उन्होंने जब लिफाफा खोलकर देखा तो उसमे छोटे-छोटे पत्थर मिले। ठगी का अहसास होने पर उन्होंने सदर थाने में तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की। इससे पहले भी शहर में इस तरह की कई घटनाएं हो चुकी है। प्रभारी निरीक्षक धर्मेंद्र गुप्ता ने बताया कि उचक्कों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Edited By: Vivek Bajpai