बरेली, जेएनएन : रेल टिकट कालाबाजारी के जरिये आतंकी फंडिंग करने वाले गिरोह के सदस्य बरेली में भी हैं। तीन फोन नंबरों की जांच के बाद रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) ने तीन अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। 18 फरवरी को दिल्ली आरपीएफ ने ई-टिकट की बुकिंग करने वाले गिरोह को पकड़ा था। जिसमें विभिन्न राज्यों के 59 लोग शामिल थे। आरपीएफ का दावा था कि गिरोह के तार बांग्लादेश के आतंकी संगठन जमीयत उल मुजाहिदीन (जेयूएमडी) से जुड़े हुए हैं। जोकि हर साल 50 से 100 करोड़ रुपये जुटाकर आंतकी संगठन को भेजता है।

प्रकरण की जांच कर रहे आरपीएफ महानिदेशक अरुण कुमार ने टिकट कालाबाजारी से जुड़े मामलों की जांच के सभी आरपीएफ पोस्ट को आदेश जारी किए थे। गिरोह की धरपकड़ के बाद जांच में इस कालाबाजारी में शामिल पांच फोन नंबर बरेली के निकले। जिनके जरिये ई टिकट बुक किए जाते थे। आरपीएफ मुख्यालय से इन नंबरों की जानकारी बरेली और मुरादाबाद भेजी गई थी।

इसके बाद सोमवार को बरेली आरपीएफ थाने में फोन नंबर के आधार पर तीन अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया गया। बाकी दो फोन नंबरों की संलिप्तता की पुष्टि की जा रही। सभी पांचों फोन नंबर धारकों के नाम, पते की जानकारी के लिए संबंधित मोबाइल कंपनियों से डिटेल मांगी गई है। दूसरी ओर मुरादाबाद के भी 12 फोन नंबर आरपीएफ मुख्यालय से भेजे गए हैं। वहां भी जांच चल रही है।

ई टिकट कालाबाजारी के जरिये आतंकी फंडिंग मामले में फोन नंबर के आधार पर तीन अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। बाकी दो नंबरों की जांच हो रही। सभी पांचों फोन धारकों की जानकारी मोबाइल कंपनियों से मांगी है। -विपिन कुमार शिशौदिया, इंस्पेक्टर, आरपीएफ, बरेली थाना 

Edited By: Ravi Mishra