बरेली, जेएनएन। Robbery with petrol pump employee disclosed : बदायूं जनपद के बिल्सी में पेट्रोल पंप कर्मचारी से दो लाख रुपये की लूट की वारदात का पूरा षड़यंत्र उस पंप पर काम कर चुके एक युवक ने रचा था। पुलिस ने बाइक स्वामी समेत षड़यंत्र रचने वाले युवक समेत तीन लोगों को  गिरफ्तार करके मामले का राजफाश किया है। हालांकि वारदात को अंजाम देने में मुख्य भूमिका निभाने वाला बदमाश अब तक पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ा है। लेकन पुलिस का दावा है कि उसे भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। 

बिल्सी के नरैली चौराहे के पास देव फिलिंग स्टेशन के कर्मचारी रामखिलाड़ी और राजपाल दो लाख रुपये लेकर मंगलवार दोपहर बैंक में जमा करने जा रहे थे। इसी दौरान इस्लामनगर-बिल्सी मार्ग पर गांव पिंडौल की पुलिया के पास एक बाइक पर आए तीन बदमाशों ने उन्हें रोका और रुपये भरा बैग छीनने लगे। छीना झपटी में बैग नीचे गिर गया। इसी दौरान बदमाशों ने तमंचा दिखाते हुए उन्हें जान से मारने की धमकी दी। इसके बाद वह दो लाख रुपये से भरा बैग लूटकर फरार हो गए थे। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मामले की जांच पड़ताल शुरू की थी।

सूत्र बताते हैं कि सबसे पहले पुलिस के हाथ लगा बाइक का नंबर। इस नंबर को तलाशते हुए पुलिस पास के ही गांव पहुंची, जहां से बाइक और बाइक स्वामी युवक को गिरफ्तार किया। उसकी मदद से वारदात में शामिल एक और बदमाश को पुलिस ने पकड़ लिया। इन दोनों से पूछताछ में पता चला कि इस पूरे घटनाक्रम के पीछे मुजरिया थाना क्षेत्र के गांव मुजरिया चौकी निवासी एक युवक शामिल है। यह वही युवक है जो करीब दो साल पहले देव फिलिंग स्टेशन पर नौकरी कर चुका था।

इसके बाद पुलिस ने मुजरिया चौकी गांव में दबिश देकर उस युवक को भी पकड़ लिया है। अब पुलिस वारदात में मुख्य भूमिका निभाने वाले युवक की तलाश में निकली है। दावा है उसे भी पुलिस रात में ही गिरफ्तार कर लेगी। एसएसपी डॉ ओपी सिंह ने बताया कि लूट के सभी आरोपितों के खिलाफ पूर्व में भी मुकदमा दर्ज है। उनके खिलाफ गैंगेस्टर की कार्रवाई करते हुए चल अचल सम्पति की जानकारी कर उसे जब्त किया जाएगा। तीनों को शुक्रवार को जेल भेज दिया गया।

Edited By: Samanvay Pandey