बरेली में फिर खुराफात, ताजियों के लिए मुस्लिमों ने तोड़ दिया मंदिर

- देररात जेसीबी लगातार पीपल के पेड़ की टहनी तोड़वाई, मंदिर में रखीं मूर्तियां व दानपात्र फेंका

- पुलिस-प्रशासन फिर फेल, शेरगढ़ के कंचनपुर गांव की घटना, आनन-फानन में लिखा गया मुकदमा

जागरण संवाददाता, बरेली: भोजीपुरा में पत्थरबाजी का बवाल थमा भी नहीं था कि मंगलवार की देररात मुस्लिमों ने शेरगढ़ में बड़ा दुस्साहस कर दिया। ताजियों के लिए मुस्लिमों ने जेसीबी लगाकर वर्षों पुराने मंदिर के ब्रह्मदेव स्थल पर खड़े पीपल के पेड़ की मोटी शाखा तोड़वा दी। यहीं नहीं मंदिर में रखी मूर्तियां व दानपात्र फेंक दिया। जानकारी के बाद हिंदू समाज के लोग सड़कों पर उतर आए। जानकारी पर पुलिस व प्रशासन के अधिकारियों के हाथ-पैर फूल गए। आनन-फानन में अज्ञात पर वन अधिनियम व अन्य धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की गई। 29 लोगों को हिरासत में ले लिया गया। घटना से गांव में हिंदू व मुस्लिमों में तनाव है।

शेरगढ़ थानाक्षेत्र के गांव मवई काजियान में किच्छा नदी के पार जाम अंतरामपुर गांव समेत क्षेत्र के कई गांवों के ताजिये आते हैं। इस बार जुलूस परंपरागत तौर तरीकों से निकल गए थे। जुलूस के मार्ग में पड़ने वाले पेड़ों की टहनियां पहले से ही छांट दी थी। कंचनपुर के ग्रामीणों ने बताया कि कई गांवों से आया मोहर्रम का जुलूस शांति पूर्वक निकल गया था। रात 12 बजे के बाद कुछ खुराफातियों ने सड़क किनारे वर्षों पुराने मंदिर के ब्रह्मदेव स्थल पर खड़े पीपल के वृक्ष की मोटी डालियों को ट्रैक्टर और जेसीबी से बांधकर कर गिरा दिया। मंदिर को क्षतिग्रस्त कर दिया। मंदिर में रखी मूर्तियां और दानपात्र बाहर फेंक दिया। कंचनपुर के ग्रामीणों का आरोप है कि ब्रह्मदेव स्थल पर खड़े पीपल के मोटे टहने को योजनाबद्ध तरीके से गिराया गया है। आक्रोशित ग्रामीणों ने थाने में जानकारी दी। सड़कों पर उतर आए। माहौल बिगड़ता देखकर पुलिस ने तुरंत ही मुकदमा लिखा। इसके बाद ताबड़तोड़ कार्रवाई के लिए दबिश दी। अंबरपुर के ग्राम प्रधान व जेसीबी के मालिक समेत 29 लोगों को हिरासत में लिया। पुलिस उनसे पूछताछ में जुटी है।

अधिकारियों ने तुरंत ही कराई मंदिर की मरम्मत

किसी भी दशा में हंगामा ना खड़ा हो। इसको लेकर अधिकारी तुरंत ही हरकत मं आए। क्षतिग्रस्त हुए मंदिर की मरम्मत करा दी है। घटनास्थल पर सीओ बहेडी डा. तेजवीर सिंह, एसडीएम पारुल तरार, तहसीलदार समेत कई लोग जमे रहे। फिलहाल, पुलिस ने भले ही मामले में आनन-फानन में कार्रवाई की हो लेकिन, वह यहां भी फेल हो गई और खुराफात को रोक नहीं सकी।

ग्रामीणों का आरोप

ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि ताजिये के जुलूस में शामिल मुस्लिमों ने कहा था कि अगली बार हम अपना रास्ता स्वयं बना लेंगे। आरोप है कि इसके बाद देररात साजिश के तहत मंदिर क्षतिग्रस्त कर दिया। ग्रामीणाें ने बताया कि इस बात का अंदेशा पहले ही जताया जा चुका था। पुलिस व प्रशासन के अधिकारियों को जानकारी दी गई थी लेकिन, सब मामले को दबाने में जुटे रहे। हरकत उसी का परिणाम है।

वर्जन

कंचनपुर गांव में ब्रह्मदेव पर पीपल का डाला गिराया गया है अज्ञात लोगों के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत किया गया है। जांच के बाद स्थिति स्पष्ट होगी।

- पारुल तरार, एसडीएम बहेड़ी

प्रकरण में अभियोग पंजीकृत कर लिया गया है। जांच के आधार पर गिरफ्तारी की जाएगी। पूछताछ के लिए कई को हिरासत में लिया गया है।

- डा. तेज प्रताप सिंह, सीओ बहेड़ी

Edited By: Jagran

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट