जासं, बरेली: राम गंगा का जलस्तर बढ़ने से क्षेत्र के गाव मानपुर त्रिलोक के पास लगभग आधा किलोमीटर लंबी पुलिया पर बनी सड़क बह गई। इससे फतेहगंज पूर्वी-दातागंज मार्ग का संपर्क मार्ग क्षतिग्रस्त हो गया। साथ ही दोनों तरफ के लगभग दो दर्जन गाव का एक दूसरे से संपर्क टूट गया। वहीं जलस्तर बढ़ने से लगभग दो दर्जन से अधिक गाव बाढ़ की चपेट में आ गए। ग्राम वासियों ने बताया कि अगर जलस्तर बढ़ता रहा तो लगभग दो दर्जन गावों में खतरा और बढ़ जाएगा। बाढ़ से सर्वाधिक चपेट में आने वाले गाव मानपुर त्रिलोक, नगरिया, नोगवा, शिवराजपुर, नगरिया कला,अकट, जरौल गंगापुर आदि हैं। इससे वहा रहने वाले गाव के लोगों ने पलायन करके करतोली शिवपुरी मार्ग पर पड़ाव डाल दिया है। अभी तक महकमे ने इनकी सुध नहीं ली है। 17 किलोमीटर लंबे टुकड़े की हालत खराब

फतेहगंज पूर्वी नगर से लेकर बेला डाडी पुल तक 17 किलोमीटर लंबा टुकड़ा बेहद जर्जर हालत में है। यह मार्ग कई बार प्रस्तावित हो चुका है लेकिन अभी तक पढ़ नहीं पाया। बीते तीन-चार दिनों तक मीरगंज क्षेत्र में बारिश का पानी कह रहा था। फतेहगंज पूर्वी से निकलने वाली बहगुल नदी का जल स्तर लगातार कई दिनों से बढ़ता चला जा रहा है जो कि खतरे के निशान तक किसी भी समय पहुंच सकता है। बहगुल नदी के सैलाब में शाहपुर बनियान, गागेपुरा, मुड़िया, हसनगंज बाकरगंज, लखनपुर, सैदपुर,आदि कई प्रभावित हैं। शनिवार की सुबह 7.95 मीटर जल स्तर मापा गया जो कि खतरे के निशान आठ मीटर के बिल्कुल करीब पहुंच चुका है।

Edited By: Jagran