पीलीभीत, जेएनएन। उत्तर प्रदेश के पीलीभीत में विदेशी महिला द्वारा एक व्यक्ति से आठ लाख 20 हजार रुपए की ठगी करने का मामला सामने आया है। विदेशी महिला ने यह ठगी पीडित के बच्चाें को इंग्लैंड में पढ़ाई की व्यवस्था कराने के नाम पर की है। मामले में पुलिस ने पीडित की तहरीर पर विदेशी महिता समेत तीन आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज कर अपनी कार्रवाई शुरू कर दी है।

पीलीभीत के एकता नगर मुहल्ले में रहने वाले जगविंदर सिंह ने सदर कोतवाली में बुधवार को शिकायती पत्र दिया। जिसमें उन्होंने बताया कि उनकी परिचित एक विदेशी महिला व्रायन ट्रिशिया का कुछ दिन पहले उनके पास फोन आया था। उसने बताया कि वह भारत आना चाहती है। वहां आकर वह उनके बच्चों की इंग्लैंड में पढ़ाई कराने का प्लान तैयार करेगी। उसने अपना पासपोर्ट, टिकट, वेंडिंग पास आदि दस्तावेज वाट्सएप पर भेज दिए। तब उन्होने ने बताया कि उनका भांजा भी इंग्लैंड में ही रहता है। इस पर महिला ने कहा कि वह उनके भांजे को वहीं जॉब दिलवा देगी।

पीड़ित का कहना है कि पहले तो महिला ने कोरोना के कारण भारत आने को मना किया, लेकिन उसके बाद उसे सूचना दी कि 2 जुलाई को सुबह 10.15 बजे उसका प्लेन लैंड कर रहा है। फिर 11 बजे महिला का फोन आया कि वह ऑनलाइन उसके खाते में 2.49 लाख भेज दे। यह पैसा उन्होंने उसके खाते में ट्रांसफर कर दिया। इसके बाद तीन जुलाई को उसने अपना चेक क्लीयर कराने का झांसा देकर 1 लाख 45 हजार 400 रुपये और अपने खाते में मंगा लिए। इस तरह से उसने किसी न किसी बहाने दो बार और पैसा अपने खाते में ट्रांसफर करा लिया।

इसके बाद चार जुलाई को फोन आया कि उसे चेकपोस्ट पर पुलिस ने पकड़ लिया है। यहां पर रुपये मांगे जा रहे हैं। तब पीडित को शक हुआ कि कहीं महिला उनके साथ ठगी तो नहीं कर रही। जिसके बाद पीड़ित ने विदेशी महिला के साथ टैक्सी ड्राइवर व एक अन्य महिला के भी इस ठगी में शामिल होने का आरोप लगाते हुए साइबर क्राइम को तहरीर दी है। इसके साथ ही मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की मांग भी की है। सदर कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक श्रीकांत द्विवेदी के अनुसार तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। मामले की जांच कराई जा रही है। 

Edited By: Ravi Mishra