वसीम अख्तर, बरेली :  केंद्र सरकार ने पहली बार देशभर में पासपोर्ट की तर्ज पर असलहा लाइसेंस के लिए भी ऑनलाइन आवेदन की सुविधा दी है। इसकी बदौलत करोड़ों लोग लाइसेंस नवीनीकरण की थकाऊ और जटिल प्रक्रिया भी घर बैठे पूरा करा सकेंगे। फीस जमा करने के लिए बैंकों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। सबसे खास यह कि भ्रष्टाचार पर भी काफी हद तक अंकुश लग जाएगा। बस एक ध्यान रखना होगा। वह यह कि अपना यूनीक आइडेंटिफिकेशन नंबर किसी को नहीं बताना है। वरना आपकी अहम जानकारियां दूसरों तक पहुंच जाएंगी। वे इनका दुरुपयोग कर सकते हैं।

ऐसे करें आवेदन : उपरोक्त वेबसाइट खुलने के बाद अप्लाई ऑनलाइन बटन पर क्लिक करना होगा। एक पेज खुलेगा, जिसमें अप्लाई हेयर पर क्लिक करके सर्वप्रथम अपनी कैटेगरी, फिर राज्य सेलेक्ट करना होगा। उदाहरण के तौर पर उत्तर प्रदेश के बाद जिला बरेली सेलेक्ट कर सकते हैं। ऐसे ही अपनी लाइसेंसी अथॉरिटी को सेलेक्ट कर सकते हैं। कौन सी सुविधा चाहिए, नया लाइसेंस, नवीनीकरण, निरस्तीकरण, लाइसेंस पर शस्त्र चढ़ाना या उसे डिलीट कराना, सीमा विस्तार, शस्त्र बेचने की अनुमति चाहिए, ये तमाम सुविधाएं घर बैठे अप्लाई कर सकते हैं। फोटो के बाद हस्ताक्षर भी स्कैन करके डालने होंगे।

नवीनीकरण के लिए ऐसे करें आवेदन : शस्त्र लाइसेंस नवीनीकरण को अप्लाई करते हैं तो सर्वप्रथम अपना 18 डिजिट का यूनीक आइडेंटिफिकेशन नंबर (यूआइएन) डालना होगा। ऐसा करते ही लाइसेंस का विवरण सामने आ जाएगा। एक फाइल नंबर जेनरेट होगा। उसके बाद कोई एक पहचान-पत्र नंबर डालना होगा। एड्रेस प्रूफके लिए आधार कार्ड, पासपोर्ट, मतदाता पहचान-पत्र, बिजली बिल, लैंडलाइन टेलीफोन का दे सकते हैं। फोटो और उसके बाद हस्ताक्षर भी स्कैन करके डालेंगे।

ऑनलाइन ही जमा होगी फीस : एप्लीकेशन नंबर से ही ऑनलाइन फीस जमा होगी। जैसे ही फीस के लिए अप्लाई करेंगे, लाइसेंसिंग अथॉरिटी की तरफ से ऑटोमेटिक मेल जेनरेट हो जाएगा। बताया जाएगा कि अमुक आवेदक के असलहा लाइसेंस नवीनीकरण की तिथि देय है। तभी फीस जमा होगी, वरना नहीं।

एक बार होगा जाना कलेक्ट्रेट : ऑनलाइन सुविधा हो जाने से बार-बार कलेक्ट्रेट के चक्कर लगाने से छुटकारा मिल जाएगा। प्रक्रिया पूरी होने के बाद महज एकबार लाइसेंस पुस्तिका लेकर जाना होगा। उस पर नवीनीकरण की पर्ची चस्पा हो जाएगी।

इस वेबसाइट पर होगा आवेदन : एनडीएएल-एएलआइएस.जीओवी.इन (ndal-alis.gov.in) इस वेबसाइट पर ऑनलाइन लाइसेंस का साफ्टवेयर अपलोड कर दिया गया है। यह शनिवार से खुलने भी लगा है।

नये सॉफ्टवेयर ने शनिवार से काम शुरू कर दिया है। प्रक्रिया बहुत ही आसान और सुविधाजनक है। इससे देश के करोड़ों लोगों को लाभ होगा। अनावश्यक लगने वाले समय की बचत होगी। - मनोज शर्मा, तकनीकी निदेशक, एनआइसी

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021