बरेली, जेएनएन।  रेल बोर्ड ने बरेली से गुजरात के भुज को जाने वाली आला हजरत एक्सप्रेस ट्रेन को अब पहले की तरह एक्सप्रेस बनाकर चलाने का निर्णय लिया है। ऐसे में यात्रियों को सहूलियत होगी क्योंकि इससे उनको उतना ही किराया देना होगा जितनी दूरी वह तय करेंगे। इस ट्रेन का स्पेशल का दर्जा समाप्त होने पर किराए में 30 प्रतिशत किराए में कटौती होगी। 

मुरादाबाद मंडल के सहायक वाणिज्य प्रबंधक नरेश सिंह ने बताया कि बुधवार तीन मार्च से बरेली-भुज (आला हजरत एक्सप्रेस) स्पेशल की जगह पहले की तरह एक्सप्रेस बनकर चलेगी। ऐसे में अब यात्रियों को ज्यादा किराया नहीं देना होगा बल्कि जितनी दूरी तय करेंगे उतना ही किराया लगेगा। अभी रेलवे इसे स्पेशल बनाकर चला रहा था। इसकी वजह से यात्रियों से किराया भी ज्यादा वसूला जा रहा था।  लॉकडाउन के बाद से रेलवे अधिकांश ट्रेनों को कोविड या स्पेशल ट्रेनों के नाम से चला रहा है। ट्रेनों को स्पेशल का नाम देने से 30 प्रतिशत अधिक किराया यात्रियों से वसूला जाता है। स्पेशल ट्रेन में एसी कोट, स्लीपर में तीस फीसद अधिक किराया के साथ ही न्यूनतम पांच सौ किलोमीटर का किराया लिया जाता है। अब इस ट्रेन में एक्सप्रेस यानी कोरोना के पहले का किराया लिया जाएगा। हालांकि अभी भी इस ट्रेन में केवल कंफर्म टिकट वाले यात्रियों को ही यात्रा करने की अनुमति मिलेगी।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021