बाराबंकी : विधानसभा चुनाव में अपनी-अपनी पार्टी के पक्ष में मतदान के लिए नेतागण जनता को प्रेरित कर रहे हैं।

गुरुवार को रामनगर इलाके में नहामऊ, बेरिया व बंजरिया सहित अन्य गांवों में जनसंपर्क के दौरान सपा नेता पूर्व मंत्री अरविद कुमार सिंह गोप ने कहा कि सपा सरकार बनने समाजवादी पेंशन महिलाओं को पहले से तीन गुना ज्यादा दी जाएगी। सपा की कथनी व करनी में अंतर नहीं है। उन्होंने सपा को मजबूत कर भाजपा को सत्ता से हटाने का संकल्प भी दोहराया। गोप के साथ सपा उपाध्यक्ष नसीम कीर्ति, यशवंत सिंह, राजन सिंह, हशमत अली गुड्डू, राजन सिंह, जय सिंह, संतोष रावत, बीपी सिंह, राधे लाल, राम किशोर यादव, जफरुल हसन सहित अन्य मौजूद रहे।

बेसहारा पशुओं से भी मुक्ति दिलाएगी कांग्रेस : कांग्रेस नेता तनुज पुनिया ने गुरुवार को हरख में जनसंपर्क किया। ग्रामीणों ने उन्हें बेसहारा पशुओं की समस्या बताई तो उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार बनने पर बेसहारा पशुओं से भी मुक्ति दिलाई जाएगी। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने किसानों की आय बढ़ाने के दावे किए लेकिन प्रति किसान 74 हजार रुपये कर्ज है। कर्ज में डूबे किसान को खुशहाली कहां मिल सकती है। कांग्रेस सरकार बनी तो किसानों का सारा कर्ज माफ किया जाएगा। पुनिया ने ग्राम नानमऊ, मोहना, भगवानपुर, उधवापुर, लखियापुर व लालपुर में भी जनसंपर्क किया। कांग्रेस का चुनावी प्रतिज्ञा पत्र भी बांटा।

---------------

जो न समझे वो..

सूची सही, मुला सत्रह वाली आय

इंटरनेट मीडिया जहां ताजा सूचनाओं का मजबूत माध्यम है वहीं कभी कभार इस पर प्रसारित सामग्री भ्रम भी पैदा कर रही है। ऐसे ही गुरुवार को हुआ। एक राजनीतिक पार्टी की सूची इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो गई। इसमें राजनीतिक दल के दो पूर्व मंत्रियों के लिए प्रतिष्ठा का प्रश्न बनी सीट का भी प्रत्याशी शामिल था। वायरल सूची को देखकर एक पूर्व मंत्री के समर्थक युवा ने अपने साथियों को काल पर इसकी सूचना भी देनी शुरू कर दी। कहा, हेलो..भैया का टिकट मिलि गवा हय। इस संबंध में जब संबंधी दल के जिले के मुखिया से बात की गई तो उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि या सूची तव सही हय मुला सत्रह(2017) वाली आय। इनमा वा बात नाही हय

राजनीति की विरासत संभालने की जंग लड़ रहे युवा नेताओं की गतिविधियां आजकल चुनावी चर्चाओं का हिस्सा हैं। नगर में सभी सीटों से संबंधित लोग रहते हैं इसलिए यहां पूरे जिले की राजनीति के गुणा-गणित पर बातें होती हैं। एक स्थान पर हो रही चर्चा में दो बड़े नेताओं के पुत्रों के राजनीतिक भविष्य पर चर्चा हो रही थी। इस पर एक बुजुर्ग बोले कि तराई इलाके से जउन दुइ बड़े नेतन के बेटवा चुनाव लड़ा चाहति हयं हमका लागति हय कि दुनउ का टिकट मिलि जाई। उनकी बात काटते हुए एक युवा बोला दादा कउने जुग मा जी रहे हव। देखव इनमा कोउ का टिकट ना मिलि अगर मिलिव गा तव जीतइ मा लाले पड़हियं। जानति हव इनमा बाबू जी या भैया वाली बात नाही हय।

Edited By: Jagran