संवाद सूत्र ओरन : लापता मासूम के स्वजन ने पुलिस कार्यालय में गुहार लगाई तो एसपी अभिनंदन शुक्रवार देर शाम खुद मौके पर पहुंच गए। डेढ़ किलोमीटर का कच्चा रास्ता ठीक न होने से उन्होंने मासूम के घर तक जाने के लिए कांस्टेबल के साथ बाइक पर सफर किया। सर्दी वर्दी में गांव पहुंचे एसपी पड़ोसियों व पीड़ित परिवार से एक घंटे तक पूछताछ करते रहे। उनके निर्देश पर गांव के सभी घरों की तलाशी कराई गई। हालांकि अभी तक मासूम का कहीं पता नहीं चल पाया है।

बिसंडा थाना क्षेत्र के ग्राम केवटनपुरवा से पांच वर्षीय आशीष पुत्र राजकरन 23 सितंबर की शाम घर के बाहर खेलते समय स्कूल के पास से लापता है। घटना के दूसरे दिन चाचा रामसिया ने उसकी गुमशुदगी थाने में दर्ज कराई थी। इसके बाद पड़ोसी के विरुद्ध अपहरण करने की उन्होंने थाने में तहरीर दी। कोई कार्रवाई न होने पर पीड़ित परिवार की महिलाएं व पुरुष ग्रामीणों के साथ शुक्रवार को एसपी कार्यालय पहुंचे थे। उन्होंने बताया था कि पुलिस बच्चे की खोजबीन नहीं कर रही है। पड़ोसी पर अपहरण करने व हत्या की आशंका जाहिर की थी। जिसे एसपी ने गंभीरता से लिया। देरशाम खुद सादी वर्दी में वह अपने वाहन से पहले सिंहपुर पहुंचे। वहां से आगे का रास्ता कच्चा व गड़बड़ होने पर वह बच्चे के घर तक कांस्टेबल के साथ बाइक पर गए। केवटनपुरवा में कुल 18 घर बने हैं। सभी घरों की एसपी ने तलाशी कराई। एसपी के निर्देश पर पुलिस ने सभी ग्रामीणों से पूछताछ की। इसके बाद पड़ोसी एक महिला व दो पुरुषों को पूछताछ के लिए पुलिस थाने ले गई है। बिसंडा थाना निरीक्षक दिनेश कुमार सिंह ने बताया कि गांव व आसपास शुरू से सुरागरसी कराई गई है। उनकी ओर से बच्चे को बरामद करने के लिए प्रयास जारी है।

Edited By: Jagran