संवादसूत्र, बलरामपुर :

धान की नर्सरी डालने का समय नजदीक आ रहा है, लेकिन अब तक किसानों की पसंदीदा सांभा मसूरी धान व बीपीटी 5204 धान बीज गोदामों पर नहीं है। विभाग जल्द ही यह प्रजाति मिल जाने की उम्मीद जता रहा है।

ज्येष्ठ माह की शुरूआत हो गई है। इसी में धान की नर्सरी डाली जानी है। इसे लेकर किसान तैयारी में जुट गए हैं, लेकिन कृषि विभाग अब तक कृषकों का मनपसंद बीज नहीं उपलब्ध करा पाया। इसकी जगह पंत-24, नरेंद्र 2065, सांभा सब वन, सीआट्स-4 प्रजाति के धान बीज हैं। नरेंद्र 2065 मोटा प्रजाति का है जो 100 से 125 दिन में तैयार हो जाता है। सांभा सब वन महीन प्रजाति का धान है जो 145 से 155 दिन में तैयार होता है। पंत-24 मध्यम श्रेणी का धान है जिसकी पैदावार 120 से 130 दिन में होती है। इसके अलावा सीआट्स-4 धान मौजूद हैं। यह भी 145 से 155 दिन में तैयार हो जाता है। सदर ब्लाक के बीज गोदाम प्रभारी नीरज कुमार राणा ने बताया कि सभी प्रजाति के धान बीज पर 50 प्रतिशत की छूट दी जा रही है। यह किसानों को करीब 19 रुपये प्रति किलोग्राम पड़ रहा है। इसके अलावा हरी खाद के रूप में ढैंचा का बीज उपलब्ध है जो 50 प्रतिशत छूट पर 28 रुपये दिया जा रहा है। सदर ब्लाक में कृषि प्राविधिक सहायक रिचा सिंह व गोल्डी पटेल ने बीज वितरित करते हुए किसानों को बताया कि इसपर मिलने वाली सब्सिडी किसानों के बैंक खाते में भेजी जाएगी। जिला कृषि अधिकारी डा. आरपी राणा ने बताया कि बीपीटी 5204 धान का बीज आ गया है। उसे ब्लाकों पर पहुंचाया जा रहा है। सांभा मसूरी भी जल्द ही बीज गोदामों पर मिलने लगेगा। किसानों की मनपसंद धान का बीज उपलब्ध कराया जाएगा।

Edited By: Jagran