जागरण संवाददाता, बलिया : सड़क हादसों में मां-बेटी समय तीन लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी। इन घटनाओं में तीन लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं। घायलों की भी हालत गंभीर बनी हुई है। जनपद के रसड़ा कोतवाली व हल्दी थाना क्षेत्रों में हुई घटनाओं के बाद चालक वाहन लेकर भागने में सफल हो गए।

रसड़ा : रसड़ा-मऊ मार्ग के चंद्रशेखर चौराहे के निकट रविवार की दोपहर लगभग 12 बजे कार की चपेट में आने से महिला मजदूर उषा देवी (40) पत्नी शेषनाथ तथा उसकी बेटी भोली (12) निवासी छितौनी की मौत हो गईं। पुलिस ने दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। घटना के बाद वाहन चालक भाग निकला।

उषा देवी अपने पति शेषनाथ के साथ नीबू गांव के एक भट्ठे पर काम करती थीं। दोपहर में उसका पति बेटी के साथ उसे गांव भेज दिया। दोनों पैदल ही गांव की तरफ जा रही थीं। इसी बीच चौराहे के निकट मऊ की तरफ से तेज गति से आ रही कार ने जोरदार टक्कर मार दी। इससे महिला मजदूर की मौत मौके पर ही हो गई। वहीं उसकी बेटी की मौत रसड़ा अस्पताल में इलाज के दौरान हुई। घटना की सूचना मिलते ही छितौनी गांव में कोहराम मच गया। हादसे के बाद कार चालक तेजी से भाग निकला।

मझौवां: एनएच-31 पर सुबह टहल रहे चार व्यक्तियों को बलिया से बैरिया की तरफ आ रही ट्रक ने रौंद दिया। इससे एक व्यक्ति की मौके पर ही मौत हो गई जबकि तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। मौके पर पहुंची हल्दी पुलिस ने सभी घायलों को सोनवानी अस्पताल पहुंचाया, जहां से उनकी स्थिति गंभीर होने के कारण सदर अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया।

सुबह भरसौंता निवासी अधिवक्ता अवधेश सिंह उर्फ पिटू सिंह (45), कंचनदेव सिंह (36) व देवेंद्र प्रसाद (45) के अलावा हल्दी के गांधी आश्रम में प्रबंधक पर तैनात गाजीपुर जनपद के मनिया निवासी अवधेश शर्मा (52) हल्दी से टहलते हुए पूरब की तरफ जा रहे थे। इसी बीच पीछे से आ रहे तेज रफ्तार ट्रक ने चारों को रौंद दिया। इससे देवेंद्र प्रसाद की मौत घटनास्थल पर ही हो गई। वहीं अवधेश सिंह, अवधेश शर्मा व कंचनदेव सिहं गंभीर रूप से घायल हो गए। मौके पर पहुंचे एसएचओ सत्येंद्र राय ने मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वहीं घायलों को सोनवानी अस्पताल पहुंचाया, जहां से उन्हें सदर अस्पताल रेफर कर दिया गया। चालक ट्रक लेकर फरार हो गया। उक्त घटना के बाद भरसौता गांव में मातम फैल गया। मृतक देवेंद्र की पत्नी मांती, पुत्र विशाल व पुत्री अंजनी का रोते-रोते बुरा हाल था।

Edited By: Jagran

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट