जागरण संवाददाता, चितबड़ागांव (बलिया) : थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत महरेंव और ग्राम हंसाईपुर में चक मार्ग पर जबरन सड़क बनाए जाने से किसानों में आक्रोश है। बोआई किए हुए खेत से ठीकेदार जेसीबी मशीन से मिट्टी काटकर किसानों की जमीन में सड़क बना रहा है।

ग्रामीण अभियंत्रण विभाग द्वारा चक मार्ग पर कार्य कराया जा रहा है। सड़क महरेंव ग्राम पंचायत के मौजा बैरीडीह से हंसाईपुर होते हुए मर्ची खुर्द तक जानी है, ठीकेदार दो मीटर चौड़े चक मार्ग को पांच मीटर चौड़ा कर रहा है। दोनों तरफ से डेढ़-डेढ़ मीटर किसान की जमीन को जबरन कब्जा कर जेसीबी द्वारा मिट्टी भरी जा रही है वहीं मिट्टी भी किसानों के खेत से ही काटी जा रही है। किसान कमला सिंह, फतीगन राजभर, श्रीकांत मिश्र, राजेंद्र मिश्र आदि का कहना है कि मना करने पर ठीकेदार का कहना है कि सरकारी काम में बाधा डालने पर मुकदमा कायम हो सकता है। किसानों द्वारा यह कहे जाने पर की सरकार सड़क बनाने के लिए यदि जमीन लेती है तो उसका मुआवजा मिलता है। किसानों को नोटिस दी जाती है लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं हुआ। ठीकेदार का कहना है कि गांव में सड़क बनाने के लिए सरकार कोई मुआवजा नहीं देती। ठीकेदार ने बताया कि किसानों की सहमति से जमीन लेकर सड़क बनाई जा रही है जबकि किसानों का कहना है कि चक मार्ग पर चौड़ी सड़क की उन्हें कोई आवश्यकता नहीं है। जोत वाली उपजाऊ जमीन को जबरन कब्जा किया ज रहा है। यदि तत्काल जिला प्रशासन ने कार्रवाई नहीं की तो किसान धरना-प्रदर्शन को बाध्य होंगे।

Edited By: Jagran