Move to Jagran APP

प्रत्याशियों को सता रही ईवीएम की सुरक्षा की चिंता, एजेंट लगाकर दिन व रात कर रहे हैं रखवाली

Bahraich News लोकसभा चुनाव में बहराइच सुरक्षित सीट के लिए हुए मतदान के बाद अब चार जून को मतगणना होगी। इस बीच मतों की सुरक्षा की चिंता प्रमुख दलों के साथ निर्दलीय उम्मीदवारों को भी सता रही है। जिले के 880 मतदान केंद्रों के 1885 बूथों पर 13 मई को मतदान हुआ था। 10.56 लाख लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था।

By Prabhanjan kumar Shukla Edited By: Abhishek Pandey Sun, 19 May 2024 03:22 PM (IST)
प्रत्याशियों को सता रही इवीएम की सुरक्षा की चिंता

प्रभंजन शुक्ल, बहराइच। लोकसभा चुनाव में बहराइच सुरक्षित सीट के लिए हुए मतदान के बाद अब चार जून को मतगणना होगी। इस बीच मतों की सुरक्षा की चिंता प्रमुख दलों के साथ निर्दलीय उम्मीदवारों को भी सता रही है। जिले के 880 मतदान केंद्रों के 1885 बूथों पर 13 मई को मतदान हुआ था। 10.56 लाख लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था।

बूथों से ईवीएम को कड़ी सुरक्षा में गल्ला मंडी सलारपुर के स्ट्रांग रूम में रखा गया है। चुनाव आयोग ने प्रत्याशियों को स्ट्रांग रूम की परिधि में अभिकर्ता लगाने की अनुमति प्रदान की है।

चुनाव कार्यालय में दी गई जानकारी के अनुसार भाजपा प्रत्याशी डा. आनंद गोंड ने दो, समाजवादी पार्टी के रमेश गौतम ने चार, बसपा के बृजेश सोनकर ने एक, निर्दलीय प्रत्याशी जगराम ने चार और जनार्दन गोंड ने एक अभिकर्ता बनाए हैं। यह दिन और रात के समय स्ट्रांग रूम के बाहर मौजूद रहकर इवीएम की रखवाली कर रहे हैं। सभी तीन जून की रात तक मतगणना शुरू होने के पहले गल्ला मंडी में मुस्तैद रहकर ईवीएम की निगरानी करते रहेंगे।

दस प्रत्याशी मैदान में

लोकसभा चुनाव के लिए दस प्रत्याशी मैदान में है। इसमें पांच प्रत्याशियों ने ही गल्ला मंडी में अपने बारह एजेंट लगाए हैं, जबकि पांच प्रत्याशियों ने किसी तरह का कोई आवेदन नहीं दिया है।

सीआरपीएफ व एसएसबी कर रही निगरानी

गल्ला मंडी के स्ट्रांग रूम में सीसी कैमरे लगा रखे गए हैं। इन कैमरों को कंट्रोल रूम से जोड़ा गया है, जबकि ईवीएम की सुरक्षा के लिए सीआरपीएफ और एसएसबी भी तैनात कर रखी गई है। किसी को भी स्ट्रांग रूम तक जाने की अनुमति नहीं है।