बागपत, जेएनएन। कोरोना वायरस के संमक्रण को रोकने के पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ के प्रयास को तब्लीगी जमात से जुड़े लोग व्यर्थ करने में लगे हैं। कोरोना वायरस से संक्रमित होने के कारण मानव बम साबित हो चुके तब्लीगी जमात से जुड़े लोग आइसोलेशन वार्ड में भी अपना रंग दिखा रहे हैं।

बागपत के सीएचसी के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कोरोना पॉजिटिव नेपाल का एक जमाती खिड़की से चादर लटकाकर देर रात फरार हो गया था। हालांकि, सीएचसी से भागा संक्रमित नेपाली जमाती करीब बारह घंटे बाद मिल गया है। वह खेकड़ा क्षेत्र में ही एक ईंट-भट्ठा पर छिपा था। स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की टीम ने नेपाली जमाती को जिला अस्पताल भेजा है। 

सीएचसी से फरार नेपाल के कोरोना वायरस पॉजिटिव तब्लीगी जमाती 65 वर्षीय बुजुर्ग की तलाश में पुलिस की दस टीमें लगी थीं। मेरठ से आइजी जोन प्रवीण कुमार भी बागपत पहुंच गये हैं। पुलिस की टीम ने नेपाली तब्लीगी जमाती को एक ईंट के भट्ठे से पकड़ा। वह गहरे गड्ढे में लेटा था। वह बंदपुर में एक भट्ठे के गड्ढे में छुपा था।

जांच में बुजुर्ग नेपाली कोरोना पॉजिटिव निकला था। जिसके बाद उसे कोविड अस्पताल खेकड़ा में रखा गया था। इसे कोरोना के लिए बनाए गए लेवल-1 हॉस्पिटल यानी खेकड़ा पीएचसी में शिफ्ट किया गया था। यहां उसका इलाज चल रहा था, लेकिन सोमवार रात वह चकमा देकर फरार हो गया था।

निजामुद्दीन मरकज से 19 मार्च को तहसील के एक गांव की मस्जिद में आये 17 नेपाली जमाती पकड़े गए थे। इन सभी को बालैनी में आइसोलेट किया गया था। इनमें से एक की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव मिलने पर गत बुधवार रात सीएचसी के कोराना वार्ड में भर्ती कराया गया था। दो दिन से संक्रमित व्यक्ति की हालत में सुधार था।

सोमवार रात करीब एक -डेढ बजे यह संक्रमित जमाती सीएचसी का दरवाजा तोड़कर जंगल की ओर फरार हो गया।करीब दो-ढाई बजे स्वास्थ्यकर्मियों को जब इसका पता लगा तो चारों तरफ खलबली मच गई। स्वास्थ्यकर्मियों ने इस प्रकरण से पुलिस को अवगत कराया।

कोरोना पॉजिटिव दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में हुए तबलीगी जमात में शामिल हुआ था। पिछले दिनों दिल्ली के मरकज से संक्रमण का मामला सामने आने के बाद बागपत पुलिस ने 12 जमातियों को पकड़ा था। यह शख्स भी उसी जमात में शामिल था। सभी की जांच की गई थी जिसमें उसका रिपोर्ट पॉजिटिव आया था। उसके बाद से उसका इलाज खेकड़ा सीएचसी में चल रहा था।

पुलिस की तलाश करने के दौरान पास के भट्ठे पर काम करने वाले मजदूरों ने संक्रमित व्यक्ति को बंदपुर की तरफ भागना बताया। इसके बाद से पुलिस व स्वास्थ्यकर्मी जंगल में उसकी तलाश कर रहे हैं। इंस्पेक्टर आरके शर्मा का कहना है कि तलाश की जा रही है। अब जल्द संक्रमित व्यक्ति को पकड़ लिया जाएगा। सीएमओ ने बताया कि इस सीएचसी की सुरक्षा में दो सिपाही तैनात थे। यह दोनों सिपाही सीएचसी से करीब 50 मीटर दूर अपनी गाड़ी में सो रहे थे। 

बागपत में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से कोरोना वायरस पॉजिटिव तब्लीगी जमात से जुड़े नेपाल के नागरिक के फरार होने की सूचना पर जिलाधिकारी शकुंतला गौतम के साथ एसपी भी मौके पर पहुंचे। वहां पर जिलाधिकारी ने सीएमओ के साथ सीएचसी इंचार्ज के साथ काफी देर तक वार्ता की। एसपी ने मौके पर तैनात सिपाहियों को तलब किया है। माना जा रहा है कि दोनों के खिलाफ सख्त कार्रवाई हो सकती है। 

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस