खेकड़ा : नगर निवासी साहित्यकार तेजपाल सिंह धामा को गणतंत्र दिवस के अवसर पर अमृतसर में 'सिंह सपूत' की उपाधि प्रदान की गई। यह सम्मान उन्हें साहित्यिक रचनाओं में भारतीय संस्कृति का प्रभाव पूर्ण उल्लेख करने के लिए दिया गया।

साहित्यिक योगदान पर पंजाब प्रांत के अमृतसर में आर्य समाज एवं सिख समाज के संयुक्त तत्वावधान में 'सिंह सपूत' की उपाधि प्रदान की जाती है, जिसके लिए नगर निवासी तेजपाल सिंह धामा का चयन किया गया था।

गणतंत्र दिवस यानी 26 जनवरी को अमृतसर के शक्ति नगर स्थित आर्य समाज मंदिर में यह सम्मान प्रदान किया गया। समारोह में तेजपाल सिंह धामा के जीवन पर आधारित एक अंग्रेजी पुस्तक व उनकेसाहित्यिक योगदान पर बनी डॉक्यूमेंट्री फिल्म भी रिलीज की गई।

कई पुरस्कारों से नवाजे

जा चुके हैं तेजपाल

तेजपाल सिंह धामा अपने साहित्यिक योगदानों के लिए कई बार सम्मानित हो चुके हैं। उन्होंने इतिहास व भारतीय संस्कृति से संबंधित कई शोधपरक ऐतिहासिक उपन्यास व शोध ग्रंथों की रचना की है। कई फिल्मों की स्क्रिप्ट भी लिखी है। उनके प्रसिद्ध ऐतिहासिक ग्रंथ 'हमारी विरासत' रचना से प्रभावित होकर महाराष्ट्र आर्य प्रतिनिधि सभा ने सम्मानित किया था। दिल्ली में इंद्रप्रस्थ हिन्दी साहित्य भारती भी खेकड़ा के लाल का सम्मान कर चुकी है।

कुंभ पहुंची तेजपाल की पुस्तक

प्रयाग कुंभ में भी तेजपाल धामा ने अपनी छाप छोड़ी है। इनकी नई पुस्तक 'महाकुम्भ आस्था का संगम' और 'महाकुम्भ टूरिस्ट गाइड' कुंभ मेले में बिक्री के लिए स्टालों पर उपलब्ध है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर