अमेठी : जगदीशपुर विधानसभा क्षेत्र के बिजली उपभोक्ताओं की शिकायत पर विधायक व राज्यमंत्री सुरेश पासी ने बुधवार को भेल गेस्ट हाउस में बिजली विभाग के जिम्मेदारों के साथ बैठक की। बैठक में शिकायतों का पुलिदा उनके समक्ष रखा। इस दौरान बिजली विभाग के अधिकारी शिकायतों का सही जवाब नहीं दे सके। फिर क्या था मंत्री नाराज हो गए। कहा कि उपभोक्ताओं के साथ ट्रांसफार्मर बदलने के नाम अवैध वसूली जैसी समस्याएं किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं होगी। इस दौरान मंत्री ने जिम्मेदारों को फटकार लगाते हुए जांच के निर्देश दिए हैं। उसके बाद मंत्री ने पीडब्ल्यूडी के कामों की भी समीक्षा की।

मंत्री ने पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों को निर्देश दिया कि विधान सभा की सभी सड़कों का अवर अभियंता सर्वे कर मरम्मतीकरण का प्रस्ताव एक सप्ताह में तैयार कर शासन को भेजें। कुछ सड़कें आधी अधूरी बनी पड़ी हैं। उन्हें जल्द बनाया जाए। मंत्री ने बताया कि जिससे सड़कें गड्ढा मुक्त हो सकें। मंत्री को आम जनमानस से शिकायत मिल रही थी कि औद्योगिक क्षेत्र व ग्रामीण क्षेत्रों में ट्रांसफार्मर बदलने के नाम पर वसूली हो रही है। एसडीओ औद्योगिक क्षेत्र की अनसुनी, बिजली कटौती व उपभोक्ताओं की अन्य समस्याओं की शिकायतें मिल रही थी। मंत्री ने आम जनमानस की शिकायत व समस्याओं को संज्ञान में लेकर बिजली विभाग के अधिशाषी अभियंता, दोनों एसडीओ व अवर अभियंता के साथ बैठक की। बैठक में सभी अधिकारियों को कड़ी फटकार लगाई। मंत्री ने बताया कि ट्रांसफार्मर की ट्रांसपोर्टिंग का चार्ज ठेकेदार द्वारा दिया जाता है। अगर किसी बिजली कर्मी ने किसी उपभोक्ता से ट्रांसफार्मर बदलने के नाम पर या कनेक्शन देने व बिजली बिल ठीक करने के नाम पर वसूली की। तो उसे बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने बताया कि सौभाग्य योजना के तहत जो काम अधूरे पड़े हैं। उन्हें जल्द पूरा कराया जाए। जहां पर काम पूरा हो गया है। वहां पर विद्युत लाइनें चालू कराई जाए। मंत्री ने बताया कि बिजली विभाग के जिम्मेदारों के खिलाफ मिल रही शिकायतों की जांच कराकर कार्रवाई कराने के निर्देश जिला प्रशासन को दिए।

Edited By: Jagran