Move to Jagran APP

UP Weather: गर्मी से हर तबका परेशान, दिन में चैन और रात का सुकुन छिना; बारिश की संभावना कितनी?

उमस भरी गर्मी और तेज धूप से हर तबका परेशान है। सुबह से शाम तक सूर्य देवता आग उगलते रहे। धरती अंगार बनी रही गर्मी से राहत पाने के लिए लोग तरह-तरह के जतन करते रहे लेकिन राहत नहीं मिली। लोगों के दिन में चैन और रात का सुकुन छिन गया है। रेलवे स्टेशन बस स्टाप टैक्सी स्टैंड पर यात्री पसीने से तार-बतर रहे।

By omkar verma Edited By: Aysha Sheikh Sun, 26 May 2024 03:53 PM (IST)
UP Weather: गर्मी से हर तबका परेशान, दिन में चैन और रात का सुकुन छिना; बारिश की संभावना कितनी?

संवाद सूत्र, अंबेडकरनगर। उमस भरी गर्मी और तेज धूप से हर तबका परेशान है। सुबह से शाम तक सूर्य देवता आग उगलते रहे। धरती अंगार बनी रही, गर्मी से राहत पाने के लिए लोग तरह-तरह के जतन करते रहे, लेकिन राहत नहीं मिली। लोगों के दिन में चैन और रात का सुकुन छिन गया है। रेलवे स्टेशन, बस स्टाप, टैक्सी स्टैंड पर यात्री पसीने से तार-बतर रहे। शीतल पेयजल की तलाश में दिनभर भटकते रहे।

बीते तीन दिनों से गर्मी का प्रकोप बढ़ा है। रविवार को तेज धूप के कारण शहर से लेकर गांव तक मुख्य चौक, बाजार व अन्य सार्वजनिक स्थलों पर सन्नाटा छाया रहा। अकबरपुर-बसखारी मार्ग तथा अयोध्या मार्ग राष्ट्रीय राजमार्ग टांडा-बांदा और ग्रामीण सड़कों पर आवागमन कम रहा। लोग अपने घरों में कैद रहे। गांव में बच्चे गर्मी से राहत पाने के लिए तालाब तथा हैंडपंप पर पानी से मस्ती करते नजर आए। गर्मी से राहत के लिए घरों में लगे पंखे, कूलर में भी उमस से शरीर में चिपचिपाहट महसूस होती रही।

झमाझम बारिश की जरूरत 

कृषि विज्ञान केंद्र पांती के फसल संरक्षक विज्ञानी डा. प्रदीप कुमार ने बताया कि लगातार तेज धूप और गर्मी से हर कोई परेशान हो गया है। किसान धान की नर्सरी के लिए खेत तैयार कर रहे हैं। यदि ऐसे मौसम रहा तो धान उत्पादन पर इसका असर पड़ेगा। ऐसे में तेज बारिश की आवश्यकता है। सब्जी की फसल का विशेष रूप से ध्यान रखें। शाम ढलने के बाद फसल की सिंचाई करें।

सेहत का रखें ख्याल

कटेहरी सीएससी अधीक्षक डा. अंकुर वर्मा ने बताया कि उल्टी-दस्त तथा बुखार से पीड़ित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। प्रतिदिन आठ से 10 मरीज अस्पताल पर उपचार के लिए पहुंच रहे हैं। ऐसे में गर्मी से बचने के लिए खूब पानी पिएं। तेज धूप में बाहर न निकले। यदि किसी प्रकार की समस्या होती है तो तत्काल अस्पताल में संपर्क करें। लापरवाही बरतने पर स्वास्थ्य और बिगाड़ सकता है। गर्मी में नवजात शिशु का विशेष करके ख्याल रखें।

सुराही व मटका बने लोगों की पसंद

बाजारों में जगह-जगह शीतल पेय की दुकानें सजी हैं। मिट्टी से बने मटका व सुराही के पानी को हर कोई पसंद कर रहा है। यही कारण है कि टोटी लगे हुए मटके की लोग खूब खरीदारी कर रहे हैं। नारीपुर मेहनाजपुर के रामकेश ने बताया कि टोटी मिट्टी के मटके ज्यादा पसंद कर रहे हैं। छोटे मटके 80 प्रति पीस बिक रहे हैं। सुराही 50 से 150 रुपये तक उपलब्ध हैं। दुकानदारों का कहना है कि मिट्टी से बने घड़ों को लोग खूब पसंद कर रहे। पानी भरने के बाद सोंधी मिठास आ जाती है। मिट्टी के घड़े का पानी पीने से सेहत के लिए भी फायदेमंद होता है।

बारिश की संभावना नहीं 

आचार्य नरेंद्रदेव कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय अयोध्या के मौसम विज्ञानी डा. अमरनाथ मिश्र ने बताया कि पूर्वांचल में मौसम शुष्क बना रहेगा। औसत तापमान सामान्य से अधिक रहने की संभावना है। रविवार को अधिकतम तापमान 42 डिग्री रिकार्ड किया गया। अभी चिपचिपी गर्मी से राहत और बारिश के आसार नहीं हैं।