प्रयागराज, जेएनएन। प्रतापगढ़ जनपद में मानधाता थाने से करीब पांच सौ मीटर दूर बुधवार की सुबह गुमटी रखने को लेकर हुए विवाद में अनीता गुप्ता पत्नी पप्पू गुप्ता व उनकी बेटियों की विरोधियों ने पिटाई कर दी थी। इस घटना का वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल होने पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया था। अनीता गुप्ता स्वयं सहायता समूह की अध्यक्ष हैं।

जिन्हें पीटा गया, उनके ही खिलाफ लिखा पुलिस ने मुकदमा तो बिफरी महिलाएं

अनीता की पिटाई के बावजूद उनके विरुद्ध मुकदमा दर्ज करने के विरोध में गुरुवार को सुबह नौ बजे स्वयं सहायता समूह की महिलाओं समेत ग्रामीण मानधाता थाने पहुंचे और थाने का घेराव कर दिया। इस दौरान पीड़ित अनीता की तबीयत बिगड़ गई, उन्हें सीएचसी में प्राथमिक उपचार के बाद राजा प्रताप बहादुर अस्पताल रेफर कर दिया गया। आक्रोशित ग्रामीण आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े हैं।

दो गुटों के बीच मारपीट और फायरिंग से मची खलबली

कंधई थाना क्षेत्र के पूरे देवजानी गांव में जमीन के विवाद को लेकर दो पक्षों में सुबह जमकर मारपीट हुई। इसमें एक पक्ष की ओर से फायरिंग भी की गई। इस मारपीट में एक पक्ष से चार लोग घायल हो गए। इस मामले में पुलिस ने एक युवक को हिरासत में लिया है। पूरे देवजानी के वसीम और रईस के बीच जमीन पर कब्जे को लेकर काफी दिनों से विवाद चल रहा है। रईस ने टीनशेड लगा रखा था।

मंगलवार देर शाम पुलिस की मौजूदगी में रईस द्वारा लगाया गया टीन शेड गिरा दिया गया था। सुबह करीब दस बजे रईस किसी काम से बाहर गया था। इस बीच उसके परिवार के लोग टीनशेड फिर से लगा रहे थे। यह देख वसीम पक्ष के लोग उन्हें मना करने गए, लेकिन वे लोग नहीं माने। इस बीच कहासुनी के दौरान दोनों पक्ष में मारपीट शुरू हो गई। दोनों पक्ष की ओर से छत से ईंट पत्थर चलाए जाने लगे। आरोप है कि इस दौरान वसीम पक्ष से फायरिंग की गई। इस फायरिंग में रईस के बेटे अबू कैस (23), शायरा बेगम (50) पत्नी मतीन, जैनब खातून (22) पुत्री मतीन को छर्रे लगे, जबकि पत्थर लगने से मतीन घायल हो गए।

Edited By: Ankur Tripathi