प्रयागराज, जेएनएन। डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने गुरुवार की शाम मठ बाघंबरी जाकर अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि से मुलाकात की। उन्होंने महंत नरेंद्र गिरि के स्वास्थ्य का  हाल-चाल लिया। साथ ही कोरोना संक्रमण को लेकर व्याप्त चुनौतियों पर चर्चा की। केशव ने कहा कि कोरोना संक्रमित संतों को उनके जिला में हर स्तर का इलाज मुहैया कराने का निर्देश दिया गया है। सरकारी अस्पतालों में संतों की दवा व उनके खाने-पीने का उचित प्रबंध कराया गया है। उन्हें किसी प्रकार की दिक्कत न होने पाए उसका विशेष ध्यान रखा जा रहा है। मठ-मंदिरों का सैनिटाजेशन कराने का निर्देश दिया गया है।

कोरोना संक्रमण को खत्म करने के लिए युद्ध स्तर पर काम 

डिप्टी सीएम ने कहा कि मौजूदा समय देश विपरीत परिस्थितियों स गुजर रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रेरणादायी मार्गदर्शन में प्रदेश सरकार कोरोना संक्रमण को खत्म करने के लिए युद्ध स्तर पर काम कर रही है। जल्द ही कोरोना के भयावह स्वरूप से लोगों को मुक्ति मिल जाएगी। उन्होंने  महंत नरेंद्र गिरि से कहा कि कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन कराने में धर्मगुरु प्रशासन का सहयोग करें। धर्मगुरु वर्चुअल प्रवचनों के जरिए लोगों को धर्म-अध्यात्म की सीख देने के साथ दो गज की दूरी, वैक्सीन व मास्क लगवाने को प्रेरित भी करें। महंत नरेंद्र गिरि ने केशव की बात पर सहमति जताई। कहा कि वे व्यक्तिगत रूप से देश के विभिन्न प्रदेशों व जिलों में रहने वाले 13 अखाड़ों के आचार्य महामंडलेश्वर, मंडलेश्वर सहित प्रमुख धर्मगुरुओं से संपर्क करके कोविड-19 गाइडलाइन का पालन कराने की अपील करने को कहेंगे। महंत नरेंद्र गिरि हरिद्वार महाकुंभ के दौरान कोरोना से संक्रमित हो गए थे। कोविड प्रोटोकॉल का पालन करके नियमित दवाओं और योग के जरिए कोरोना से खुद को मुक्त कर लिए हैं। उन्होंने कोरोना को काबू करने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा किए जा रहे कार्यों की सराहना किया।

Edited By: Ankur Tripathi