प्रयागराज, जेएनएन। प्रख्यात कथावाचक पद्मविभूषण जगद्गुरु स्वामी रामभद्राचार्य को गुरुवार को हार्टअटैक पड़ गया। इलाज के लिए मेला क्षेत्र स्थित उनके शिविर से एयर एंबुलेंस के जरिए उन्हें दिल्ली एम्स भेजा गया। उनके बीमार होने से उनके भक्त आहत हैं। वह उनके जल्द स्वस्थ होने की प्रार्थना कर रहे हैं। स्वामी रामभद्राचार्य का स्वास्थ्य कुछ दिनों से खराब चल रहा था।

बताया गया है कि गुरुवार को दिन में 11 बजे के लगभग उन्हें हार्ट अटैक पड़ा। जानकारी स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को हुई तो सेक्टर छह स्थित उनके शिविर में एंबुलेंस भेजी। एंबुलेंस के जरिए उन्हें एयरपोर्ट ले जाया गया। वहां से एयर एंबुलेंस से ले जाया गया। उनके शिष्य डॉ. उमेश ने बताया कि एम्स में इलाज चल रहा है। अब गुरुजी की हालत में सुधार है।  जगद्गुरु रामभद्राचार्य कथावाचक,  प्रकांड विद्वान, शिक्षाविद, बहुभाषाविद, साहित्यकार, दार्शनिक और हिंदू धर्मगुरु के रूप में जाने जाते हैं। उनका संत पूर्व नाम गिरिधर मिश्र है।

चित्रकूट में रहने वाले वह रामानंद संप्रदाय के वर्तमान जगद्गुरु रामानंदाचार्यों में से एक हैं। इस पद पर 1988 से प्रतिष्ठित हैं। वह चित्रकूट स्थित जगद्गुरु रामभद्राचार्य विकलांग विश्वविद्यालय के संस्थापक और आजीवन कुलाधिपति हैं। यह विश्वविद्यालय केवल विकलांग विद्यार्थियों को स्नातक तथा परास्नातक पाठ्यक्रम में शिक्षा देता है। रामभद्राचार्य दो मास की आयु में नेत्र की ज्योतिरहित हो गए थे। 

Posted By: Nawal Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस