प्रयागराज,जेएनएन।  संघ लोकसेवा आयोग से मंगलवार को घोषित सिविल सर्विसेज परीक्षा 2019 के नतीजों ने शहर की माटी से जुड़े तमाम प्रतियोगियों के चेहरे पर प्रसन्नता बिखेर दी है। मिंटो रोड निवासी अनन्या सिंह को 51वां स्थान हासिल हुआ है। पहले प्रयास में ही उन्होंने यह सफलता हासिल की। उनका विषय अर्थशास्त्र था। ममफोर्डगंज निवासी अभिनव गोपाल 305 वें स्थान पर रहे हैैं।  वहीं प्रयागराज स्थित दूरदर्शन केंद्र के निदेशक रह चुके एससी मिश्र के बेटे शाश्वत त्रिपुरारी ने 78 वां व बेटी सोनाली मिश्रा ने 300 वीं रैंक हासिल की है।

अनन्‍या के पिता जिला जज के पद से हैं सेवानिवृत्त

अनन्या ने एसएमसी से 12 वीं के बाद श्रीराम कालेज ऑफ कामर्स से इकोनॉमिक्स ऑनर किया। मां अंजली सिंह आइइआरटी प्रयागराज से लेक्चरर पद से सेवानिवृत्त हो चुकी हैं। पिता एके सिंह अमरोहा में जिला जज पद से सेवानिवृत्त हैं।  रिजल्ट आने के बाद से दिन भर अनन्या को बधाई दी जाती रही।

भाई बहन ने भी हासिल की सफलता

ममफोर्डगंज निवासी अभिनव गोपाल ने गंगागुरुकुलम् से 12वीं तक की पढ़ाई की। फिर आइआइटी चेन्नई से बीटेक व एमटेक किया। परीक्षा में उनका विषय समाजशास्त्र था। वर्ष 2017 में इंडियन फारेस्ट सर्विस के लिए चयनित हुए थे। प्रयागराज स्थित दूरदर्शन केंद्र के निदेशक रह चुके एससी मिश्र के बेटे शाश्वत त्रिपुरारी ने 78 वां व बेटी सोनाली मिश्रा ने 300 वीं रैंक हासिल की है। शाश्वत ने सेंट जोसफ कालेज से 12वीं तक की पढ़ाई की। उनका विषय मानव विज्ञान था। सोनाली ने एसएमसी से 12वीं के बाद मदनमोहन मालवीय विश्वविद्यालय गोरखपुर से इंजीनियरिंग की। उनका विषय समाजशास्त्र था। उन्हें तीसरे प्रयास में सफलता मिली है।

एमएनएनआइटी के पुरा छात्रों को भी मिली कामयाबी

मोतीलाल नेहरू नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी यानी एमएनएनआइटी के छात्रों ने भी इस प्रतिष्ठित परीक्षा में कामयाबी हासिल की है। 223 वीं रैंक हासिल करने वाले आइपीएस शुभम 2016 बैच के एमएनएनआइटी से बीटेक हैं। शिवम त्यागी ने 2016 बीटेक किया था। उनका 360 वां स्थान है।  2015 बैच के बीटेक आइपीएस मयंक मित्तल ने सिविल सेवा में 29 वीं रैंक हासिल की है।

आइपीएस की ट्रेनिंग के दौरान बन गए आइएएस अजय

एमएनएनआइटी के पुरा छात्र रहे और वर्तमान में ट्रेनी आइपीएस के रूप में मुरादाबाद में तैनात अजय जैन को 12 वां स्थान मिला है। वर्ष 2014 में एमएनएनआइटी से इलेक्ट्रनिक एंड कम्युनिकेशन से बीटेक की उपाधि प्राप्त करने वाले अजय मूलरूप से राजस्थान के सवाई माधोपुर के रहने वाले हैं। पिता विनोद कुमार जैन व्यवसायी हैं। अजय ने बताया कि उन्होंंने ऐसी नौकरी करने की बात सोची थी जिससे समाज हित किया जा सके। इसी कारण सिविल सेवा परीक्षा में शामिल हुए। तीसरे प्रयास में इंडियन रेलवे ट्रैफिक सर्विसेज में चयन हुआ। वर्ष 2019 में आइपीएस में चयन हुआ तो यूपी कैडर मिला। उन्होंने कहा कि सकारात्मक ढंग से मेहनत सफलता जरूर दिलाती है।

Edited By: Brijesh Srivastava