प्रयागराज, जेएनएन। शंकराचार्य आश्रम अलोपीबाग में आराधना महोत्सव में मंगलवार को विद्वत सम्मान समारोह हुआ। अध्यक्षता बीएचयू के निवर्तमान कुलपति डॉ. गिरीश चंद्र त्रिपाठी ने करते हुए कहा कि विद्वान और विज्ञान, विकास की आधारशिला है। समस्याओं और चुनौतियों का समाधान भारत के विद्वानों की ओर से प्रस्तुत किए गए दर्शनवृत्त और विचार से ही संभव है। स्वामी वासुदेवानंद ने कहा कि स्वामी ब्रह्मानंद सरस्वती ने ज्योतिष्पीठ का पीठोद्धार करने के बाद इसे विधिशास्त्र और धर्मशास्त्र के माध्यम से संघर्ष करते हुए ज्योतिष्पीठीय गुरु शिष्य परंपरा को गति, विस्तार और प्रतिष्ठा दिलाई। उनकी स्तुति के लिए आराधना महोत्सव मनाया जाता है।

अगले साल आराधना महोत्सव का विशेष आयोजन होगा

श्रीमद् भागवत कथा सप्ताह के अंतिम दिन पं. भगवत प्रसाद शुक्ल प्रधानाचार्य श्रीरामदेशिक संस्कृत महाविद्यालय दारागंज और श्री ज्योतिष्पीठ संस्कृत महाविद्यालय शंकराचार्य आश्रम के पूर्व प्राचार्य पं. हरिशंकर त्रिपाठी को विद्वत अभिनंदन पत्र, शॉल और रुद्राक्ष माला, नारियल, दक्षिणा देकर सम्मानित किया गया। इलाहाबाद हाईकोर्ट के न्यायमूर्ति (अवकाश प्राप्त) अरविंद कुमार त्रिपाठी और पूर्व मंत्री नरेंद्र कुमार सिंह गौर को सामाजिक सम्मान अभिनंदन पत्र, नारियल व शॉल देकर सम्मानित किया गया। पूर्व कुलपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद त्रिपाठी 'रसराज' ने कहा कि विदेशी विचारकों और लेखकों ने भी हजारों साल पहले भगवान राम के संबंध में लिखे हुए साहित्य को भारत भेजा। इन्हें स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती ने उपाधि दी। उन्होंने कहा कि अगले साल आराधना महोत्सव में ब्रह्मलीन स्वामी ब्रह्मानंद सरस्वती की जयंती का विशेष आयोजन होगा। शताब्दी ग्रंथ भी प्रकाशित होगा।

चोटी प्रतियोगिता में 24 छात्रों ने भाग लिया

आराधना महोत्सव में सनातन धर्म की जागृति के लिए आयोजित चोटी प्रतियोगिता में 24 छात्रों ने भाग लिया। ओमनाथ पांडेय को 21 इंच की चोटी होने पर पहला स्थान, अभयराज, ऋषभ दीक्षित और जीतेंद्र मिश्र ने 19 इंच की चोटी से दूसरा स्थान प्राप्त किया। राहुल पांडेय और शिवम पांडेय ने 18 इंच की चोटी होने पर तीसरा स्थान पाया। जयपुर निवासी सीताराम शर्मा ने स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती, व्यास महंत रामानंद, ब्रह्मलीन शंकराचार्य स्वामी शांतानंद सरस्वती की मूर्ति पर माल्यार्पण किया और आरती की। ओंकार नाथ त्रिपाठी ने कार्यक्रम का संचालन किया।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस