प्रयागराज, जेएनएन। प्रयागराज समेत देश के कई हिस्सों में प्रतियोगी छात्रों के भारी बवाल और पुलिस कार्रवाई के बाद मची सरगर्मी के बीच आरआरबी (रेलवे भर्ती बोर्ड) ने फिलहाल एनटीपीसी सीबीटी -2 परीक्षा स्थगित कर दी है। यह परीक्षा 15 फरवरी से होनी थी लेकिन अब बाद में तारीख घोषित होगी।

इसे भी पढ़ें

प्रयागराज में नौकरी के लिए प्रतियोगी छात्रों ने रोकी ट्रेन, रेलवे ने दी भर्ती से वंचित करने की चेतावनी


कैंप लगाकर अभ्यर्थियों की सुनी जाएगी शिकायत और लिया जाएगा सुझाव

आरआरबी के चेयरमैन आरए जमाली ने गुरूवार को प्रेस वार्ता में बताया कि 28 जनवरी से 16 फरवरी तक रेलवे देश के मंडल मुख्यालयों में कैंप लगाएगा। प्रयागराज के कोरल क्लब, झांसी मंडल में बुंदेलखंड इंस्टीट्यूट और आगरा मंडल के गोवर्धन स्टेडियम में कैंप लगाया जाएगा। रोज इस कैंप में 11 से 4 बजे तक प्रतियोगी छात्रों की सुनवाई होगी। कैंप में अभ्यर्थी सीधे जा कर अपनी शिकायत कर सकते हैं। आरआरबी प्रयागराज के चेयरमैन आरए जमाली ने बताया कि कैंप में अभ्यर्थियों से सुझाव लिया जाएगा।

जानिए क्या हुआ पिछले तीन दिनों में

14 जनवरी को आरआरबी में एनटीपीसी का रिजल्ट आया। इस रिजल्ट के बाद से छात्र आंदोलनरत हैं और इंटरनेट मीडिया पर जबजस्त मामला ट्रेंड कर रहा है। छात्रों का कहना है कि रेलवे बोर्ड ने नोटीफिकेशन में कहा था कि सीबीटी प्रथम परीक्षा में 20 प्रतिशत उम्मीदवारों को चयनित किया जाएगा। लेकिन, जब रिजल्ट आया तो बोर्ड ने मात्र पांच प्रतिशत उम्मीदवारों का ही चयन किया है। इसी से नाराज छात्रों ने इंटरनेट मीडिया पर पहले आनलाइन विरोध जताया और मंगलवार को सड़क उतर गए। जिसके बाद पुलिस ने लाठी चार्ज किया।

प्रयाग स्टेशन पर सैकड़ों छात्र अपना विरोध जताने के लिए जुटे। रेलवे ट्रैक पर छात्रों की भीड़ जुटी तो हड़कंप मच गया। छात्रों का कहना है कि बोर्ड अपनी मनमानी कर रहा है। इस परीक्षा में जिन छात्रों ने दो पदों के लिए क्वलीफाई किया है, जब वह एक ही पद चुनेंगे तो दूसरा पद खाली ही रह जाएगा। ऐसे में अगर अधिक संख्या में और नोटीफिकेशन के अनुरूप छात्रों का चयन किया जाए तो सभी पद भी भरेंगे और छात्रों को नौकरी भी मिल जाएगी। ऐसे में बोर्ड को फिर से रिजल्ट को संशोधित करना चाहिए। नोटीफिकेशन के अनुरूप 20 गुना परीक्षार्थियों को सीबीडी टू परीक्षा के लिए चयनित करना चाहिए। ऐसा नहीं होता तो छात्रों का विरोध जारी रहेगा।

यह भी जरूर पढ़ें

रेलवे ट्रैक पर बवाल के पीछे राजनीतिक फंडिंग की तहकीकात, एक इंस्पेक्टर औऱ दो दारोगा समेत छह निलंबित

रेलवे की ओर से यह कहा गया

मंगलवार को छात्रों के भारी विरोध के बाद उत्तर मध्य रेलवे ने एनटीपीसी एग्जाम को लेकर विज्ञप्ति जारी कर बताया था कि इस भर्ती में पद के सापेक्ष 20 गुना अभ्यर्थियों को सीबीटी द्वितीय के लिए चयनित किया गया है। सब कुछ नियमावली व नोटिफिकेशन के अनुसार ही हो रहा है। रेलवे एनटीपीसी एग्जाम का रिजल्ट 14 जनवरी को जारी हुआ था। अभ्यर्थी मंगलवार को जगह-जगह रिजल्ट को संशोधित करने के लिए प्रदर्शन कर रहे थे। अभ्यर्थियों का कहना था कि सीबीटी प्रथम में सिर्फ 4 से 5% परीक्षार्थियों को ही दूसरे चरण के एग्जाम के लिए चयनित किया गया है। वह इसी बात को लेकर रिजल्ट में संशोधन की मांग कर रहे थे। भारी विरोध प्रदर्शन जगह-जगह बवाल, हंगामा ट्रेन रोके जाने की घटनाएं व इंटरनेट मीडिया पर चल रहे प्रदर्शन के बाद बोर्ड स्तर से लेकर जोन स्तर तक अलग-अलग प्रेस विज्ञप्ति जारी हुई थी।

Edited By: Ankur Tripathi