प्रमोद यादव, प्रयागराज : संचार क्षेत्र की सरकारी कंपनी बीएसएनएल की कमाई का ग्राफ लगातार गिरता जा रहा है। अक्टूबर महीने में पिछले साल की तुलना में यूपी ईस्ट जोन की कमाई 317 करोड़ रही, जो पिछले साल की तुलना में 22.25 फीसद कम है। सबसे ज्यादा घाटा हिमाचल प्रदेश में है। पश्चिमी यूपी, उत्तराखंड, पंजाब और अंडमान निकोबार जोन फायदे में है। पिछले कुछ सालों से बीएसएनएल के दिन ठीक नहीं चल रहे। लगातार हो रहे घाटे को कम करने के लिए बीएसएनएल में 50 साल से अधिक उम्र वालों को वीआरएस दिया जा रहा है। इस श्रेणी में आने वाले अधिकतर अधिकारी व कर्मचारी वीआरएस के लिए आवेदन कर रहे हैं। इस बीच बीएसएनल की कमाई के जो आकड़े आ रहे हैं वह भी निराशाजनक है। 13 नवंबर को जारी हुए कमाई के आकड़े बता रहे हैं कि पिछले साल अक्टूबर तक की तुलना में इस साल अक्टूबर तक ओवरऑल कंपनी 16.55 फीसद घाटे में है। देश के 27 जोन में सिर्फ चार जोन ही फायदे हैं। घाटे वाले जोन में सबसे ऊपर हिमाचल प्रदेश है। वहां पर कमाई 39.82 फीसद कम हुई। इसके अलावा नार्थ ईस्ट जोन सेकंड में 30.85 फीसद, कर्नाटक में 30.85 फीसद, असोम (आसाम) में 29.99 फीसद, चेन्नई 27.88 फीसद, केरल में 24.85 फीसद, महाराष्ट्र में 24.05 फीसद, जम्मू में 22.41 फीसद, पूर्वी यूपी में 22.25 फीसद, गुजरात में 15.79 फीसद, छत्तीसगढ़ में 10.16 फीसद, हरियाणा में 9.54 फीसद, आंध्र प्रदेश में 6.55 फीसद कमाई कम हुई। वहीं बिहार में सबसे कम घाटा 0.32 फीसद रहा। --- कमाई वाले जोन देश के चार जोन फायदे में हैं। इसमें पंजाब में 4.23 फीसद, यूपी वेस्ट में 13.18 फीसद, उत्तराखंड में 16.49 फीसद और अंडमान निकोबार में 36.41 फीसद कमाई ज्यादा हुई। ओवरआल पिछले साल अक्टूबर तक बीएसएनएल की कमाई 11264 करोड़ थी जो इस साल कम होकर 9400 करोड़ हो गई है।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप