प्रयागराज, जेएनएन। माहे मुकद्दस रमजान मुबारक का आखिरी अशरा चल रहा है। तीसरे अशरे में पडऩे वाले आखिरी जुमा को ही अलविदा माना जाता है। 31 मई को अलविदा की नमाज की तैयारी है। ऐसे में जामा मस्जिद चौक समेत शहर की सभी मस्जिदों में अलविदा की नमाज को लेकर तैयारियां हो रही हैं। चौक में जामा मस्जिद के बाहर सड़क पर हजारों नमाजियों की भीड़ उमड़ती है। इसके अलावा अन्य मस्जिदों के बाहर और छतों पर टेंट लगवाए जा रहे हैं ताकि भीड़ अधिक होने पर दिक्कत न हो। अलविदा की तैयारियों के बीच ईद की खरीदारी भी जोरों पर है।

 जामा मस्जिद में नमाज को उमड़ेगी भारी भीड़

अलविदा की नमाज के लिए जामा मस्जिद पर हजारों की भीड़ उमड़ती है जबकि ईद की नमाज के लिए रामबाग स्थित ईदगाह में लाखों लोग पहुंचते हैं। अलविदा पर जामा मस्जिद पर होने वाली तकरीर, खुतबा सुनने के लिए देहात तक से लोग आते हैं। रमजान की फजीलतों के बयान के साथ दुआएं होती हैं। अलविदा पर मस्जिदों, मदरसों के अलावा गेस्ट हाउस, दरगाह आदि में भी बड़े पैमाने पर इफ्तार का इंतजाम होता है। अलविदा के मद्देनजर सभी थानों में पीस कमेटी की बैठकें भी आयोजित हो रही हैं। 

बाजारों में देर रात तक ईद की हो रही खरीदारी

ईद को चंद दिन ही बचे हैं, ऐसे में अब खरीदारी देर रात तक चल रही है। रोशनबाग बाजार में तो घास सट्टी से लेकर मदरसा गरीब नवाज तक दुकानें सजी हैं। इस सड़क पर दोनों तरफ से वाहनों की एंट्री रोक दी गई है। बाजार में रात दो बजे तक रौनक हो रही है। इसी प्रकार नूरल्ला रोड पर खरीदारों की भीड़ की वजह से जाम के हालात हो रहे हैं। यहां भी आधी रात तक दुकानों पर भीड़ लग रही है। चौक, सिविल लाइंस, कोठा पारचा, बजाजा पट्टी, नखासकोहना, कटरा आदि बाजारों में भी मुस्लिम महिलाएं खरीदारी करती दिख रही हैं। 

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस