Move to Jagran APP

समोसा के लिए भिड़े प्रयागराज के कांग्रेसी, पुलिस लाइन में एक-दूसरे को धमकाने का वीडियो वायरल

बुधवार को हुई कांग्रेसियों की गिरफ्तारी का एक वीडियो गुरुवार को वायरल हुआ। जिसमें कांग्रेस के दो पदाधिकारी एक-दूसरे को गाली दे रहे हैं। चौराहे पर देख लेने की धमकी भी है। और आपको यह जानकर अचंभा होगा कि यह सब हुआ महज एक समोसे के लिए।

By Ankur TripathiEdited By: Published: Fri, 08 Oct 2021 07:30 AM (IST)Updated: Fri, 08 Oct 2021 07:30 AM (IST)
प्रियंका वाड्रा को हिरासत में लिए जाने के विरेाध में उतरे थे कांग्रेसी

प्रयागराज, जागरण संवाददाता। प्रदेश में एक ओर कांग्रेस सियासी जमीन तलाश रही है लेकिन संगठन में सब सामान्य नहीं है। यह तब पता चला जब बुधवार को हुई कांग्रेसियों की गिरफ्तारी का एक वीडियो गुरुवार को वायरल हुआ। जिसमें कांग्रेस के दो पदाधिकारी एक-दूसरे को गाली दे रहे हैं। चौराहे पर देख लेने की धमकी भी है। और आपको यह जानकर अचंभा होगा कि यह सब हुआ महज एक समोसे के लिए।

loksabha election banner

तीन समोसा लेने पर टोका तो हो गया टकराव

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका वाड्रा को सीतापुर में हिरासत में लिए जाने समेत अन्य मांगे पूरी नहीं होने के विरोध में बुधवार को जिला और शहर कांग्रेस की तरफ से सिविल लाइंस स्थित पत्थर गिरिजाघर पर प्रदर्शन किया गया। सड़क जाम करने की कोशिश कर रहे कांग्रेसियों को पुलिस ने हिरासत में लेकर पुलिस लाइन भेजा। वहां शहर कांग्रेस कमेटी के सचिव इरशाद उल्ला और जिला प्रवक्ता हसीब अहमद के बीच किसी बात को लेकर विवाद हो गया। इसका वीडियो गुरुवार को वायरल हो गया। वीडियो में इरशाद ने गालीगलौच करते हुए हसीब को चौराहे पर मारने की धमकी दी और कहा कि कोई बचा नहीं पाएगा। बीच में महानगर अध्यक्ष नफीस अनवर ने यह कहते हुए मध्यस्थता करने की कोशिश किया कि इस बात का ध्यान रखिए कि हम लोग घर में नहीं हैं। इसके बावजूद इरशाद गालीगलौच करते रहे और चौराहे पर देख लेने की धमकी देते रहे। वीडियो में इरशाद तल्ख तेवर में अमार्यादित भाषाओं का प्रयाेग करते हुए हसीब पर हमलावर भी होते देखे गए। बाद में पुलिस और पार्टी के लोगों ने बीचबचाव कर सबको तितर-बितर किया। इरशाद ने बताया कि गिरफ्तारी के बाद वह समोसा लेकर आए और सबको बांटने के बाद पेड़ के नीचे बैठ गए। उन्होंने हसीब को देखा तो वह तीन समोसा लिए थे। आरोप है कि टोकने पर हसीब अमर्यादित हो गए। इसी बात को लेकर यह सब हुआ। वहीं, हसीब ने समोसे की बात को अस्वीकार दिया। उन्होंने कहा इरशाद अमर्यादित व्यवहार कर रहे थे। विरोध करने पर गालीगलौच करने लगे।

बोले जिम्मेदार पदाधिकारी

दोनों लोगों के बीच में किस बात को लेकर विवाद हुआ। इसकी जानकारी नहीं है। फिलहाल दोनों लोगों को नोटिस जारी कर तीन दिन के भीतर जवाब मांगा गया है। इसके बाद अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।

- नफीस अनवर, महानगर अध्यक्ष 

पार्टी से कोई मतलब नहीं है। दोनों लोगों का आपसी विवाद था।

- सुरेश यादव, गंगापार अध्यक्ष

सुबह वीडियो वायरल होने पर मुझे जानकारी हुई। यदि मौके पर मैं होता तो ऐसी नौबत न आने देता।

- अरुण तिवारी, यमुनापार अध्यक्ष


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.