जागरण संवाददाता, अलीगढ़ : दिल्ली से गलती से ट्रेन में भटक कर पहुंचे मानसिक रूप से बीमार मध्य प्रदेश के एक युवक को आरपीएफ ने उसके स्वजन तक पहुंचा दिया। युवक प्रदेश स्तरीय खिलाड़ी रहा है। आरपीएफ इंस्पेक्टर सीएस तोमर ने बताया कि सोमवार रात एएसआइ ओमवीर सिंह व कांस्टेबल देवकीनंदन मीणा सीसीटीवी कंट्रोल रूम की निगरानी कर रहे थे। तभी प्लेटफार्म संख्या सात पर एक बैंच के नीचे काले रंग का बैग लावारिस अवस्था में दिखाई पड़ा। पास ही एक युवक चहल-कदमी कर रहा था और परेशान दिखाई पड़ रहा था। इस पर बैग की तलाशी लेने पर उसमें लैपटाप, हैडफोन, पढ़ाई की किताबें, स्कूली दस्तावेज व खेलकूद प्रतियोगिताओं से जुड़े हुए प्रदेश स्तरीय प्रमाण पत्र रखे हुए मिले। युवक ने खुद को जबलपुर (मध्य प्रदेश) के साउथ सिविल लाइन क्षेत्र निवासी वैभव गुप्ता बताया। युवक के बताए गए पते की जबलपुर सिटी पुलिस के जरिए पुष्टि की गई। पिता अशोक कुमार गुप्ता से मोबाइल फोन पर संपर्क किया गया तो बताया कि बेटा वैभव मानसिक रूप से बीमार चल रहा है और तैराकी आदि प्रतियोगिताओं में प्रदेश स्तरीय खिलाड़ी रहा है। पिता ने बताया कि वह प्रयागराज स्टेशन तक आ जाएंगे। आप बेटे को किसी तरह वहां तक भिजवा दें। वैभव गुप्ता को रीवा एक्सप्रेस से प्रयागराज तक पहुंचाया गया। पिता ने इसके लिए आरपीएफ की सराहना की है।

.....

घर से नाराज होकर छात्र स्टेशन पहुंचा

जासं, अलीगढ़: सिविल लाइन क्षेत्र के जमालपुर से एक 15 वर्षीय छात्र स्वजन की डांट से नाराज होकर स्टेशन पर पहुंच गया। छात्र किसी ट्रेन के जरिए शहर से कहीं बाहर जाना चाहता था। आरपीएफ इंस्पेक्टर सीएस तोमर ने बताया कि स्टेशन पर एएसआइ ओंकार सिंह ने छात्र को भटकते हुए पकड़ लिया। पूछताछ करने पर छात्र ने बताया कि स्वजन ने उसे किसी बात पर डांट दिया था। इस पर छात्र को चाइल्ड लाइन टीम को सौंप दिया गया। जहां से उसके स्वजन को बुलाकर देर शाम छात्र को उन्हें सौंप दिया गया।

Edited By: Jagran