एएमयू के मेडिकल कालेज में पेट से तीन किलो का ट्यूमर निकाला:  अलीगढ़, जागरण संवाददाता। अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालयब(एएमयू) के मेडिकल कालेज के सर्जरी विभाग के चिकित्सकों ने 34 वर्षीय व्यक्ति के पेट से तीन किलो के ट्यूमर को निकालने को निकालकर दुर्लभ सर्जरी की है। सर्जरी के बाद मुकेश को गहन चिकित्सा इकाई में रखा गया और उसकी हालत में सुधार के बाद उसे अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। पढ़ें विस्‍तृत खबर

Single Use Plastic Ben: चेतावनी का आज आखिरी दिन, कल से होगी छापेमारी : सिंगल यूज प्लास्टिक पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया गया है। इसके लिए लोगों को जनजागरूक करने का रविवार को आखिरी दिन है। सरकार के आदेश का सख्ती से पालन कराने के लिए सोमवार से प्रतिबंधित पालीथिन बेचने वाले और उनका प्रयोग करने वालों के यहां छापामार कार्रवाई की जाएगी। व्यापारी संगठनों ने भी प्रतिबंधित पालीथिन का प्रयोग नहीं करने की अपील दुकानदारों से की है। पढें पूरी खबर

अलीगढ़ में पेयजल के बजाए नलों से निकल रहे मांस के टुकड़े : यह सुनने में भले ही अटपटा लगे, लेकिन है सच। रोरावर क्षेत्र के कई गांव में मीट फैक्ट्रियों की लापरवाही से हैंडपंप ‘मौत का लाल’ पानी उगल रहे हैं। शाहपुर कुतुब के माजरा चमरौला में तो नलों से मांस के टुकड़े तक निकल रहे हैं। इससे लोगों में बीमारियां फैल रही हैं। खाना-पीना दुश्वार हो गया। लोगों ने कई बार इसकी शिकायत की हैं, लेकिन अफसर ध्यान नहीं देते हैं। शनिवार को स्थानीय लोगों ने गंदे पानी को लेकर काफी हंगामा किया।पुरुषों के साथ महिलाएं भी इसमें शामिल थीं। अब डीएम इंद्र विक्रम सिंह को शिकायती पत्र देकर मीट फैक्ट्रियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। पढ़ें पूरी खबर

पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष तेजवीर सिंह गुड्डू की साढ़े पांच करोड़ से अधिक की संपत्ति जब्त : पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष तेजवीर सिंह गुड्डू के खिलाफ पुलिस प्रशासन ने शनिवार को बड़ी कार्रवाई की है। टीम ने गुड्डू की महुआखेड़ा क्षेत्र के गांव सुखरावली स्थित पांच करोड़ 77 लाख 25 हजार रुपये की अचल संपत्ति को कुर्क करते हुए जब्त कर लिया है। यह कार्रवाई सिविल लाइन में गुड्डू के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के मुकदमे में की गई है। गुड्डू को भूमाफिया भी घोषित किया है। पढ़ें पूरी खबर

अलीगढ़ में अफसरों की 'तबादला एक्सप्रेस' कहीं अटका न दें विद्यार्थी हित की योजनाएं :  माध्यमिक शिक्षा विभाग में भी शासन की ओर से अफसरों के लिए तबादला एक्सप्रेस तेजी से चलाई गई है। अफसरों के स्थानांतरण की प्रकिया तो होती ही है, ये व्यवस्थाओं के बेहतर क्रियान्वयन के लिए जरूरी कदम भी है। मगर अफसरों व कर्मचारियों के तबादलों से छात्र हित की योजनाओं में कुछ समय के लिए रोड़ा आने की संभावना से भी इंकार नहीं किया जा सकता है। डीआइओएस व जेडी के भी ट्रांसफर हो गए हैं। साथ ही डीआइओएस कार्यालय के 11 बाबुओं को भी दूसरे जिलों में भेज दिया गया है। मगर अभी ज्वाइनिंग किसी नए ने नहीं की है। इससे कार्यालय का काम भी प्रभावित हो रहा है। इसके चलते माध्यमिक विद्यालयों में जो आधुनिकता दस्तक देने को तैयार खड़ी थी उसमें सुस्ती आने की बातें भी प्रधानाचार्यों के मुंह से सुनाई दे रही हैं। पढ़ें पूरी खबर

Edited By: Anil Kushwaha