अलीगढ़, जागरण संवाददाता। एसटीएफ (स्पेशल टास्क फोर्स) ने फारच्यून का नकली रिफाइंड आयल तैयार करने व बेचने का गत गुरुवार को पर्दाफाश किया था। कंपनी के अफसरों की ओर अलीगढ़ में घटती उत्पादन की सेल पर खुफिया तंत्र से पहले जानकारी जुटाई। इसके बाद कार्रवाई के लिए शासन को पत्र लिखा। कारोबार से जुड़े सूत्रों का कहना है कि अलीगढ़ में ब्रांडेड कंपनियों की हूबहू पैकिंग में 25 लाख रुपये रोज का नकली रिफाइंड पाम आयल व सरसों का खाद्य तेल तैयार किया जाता है। इसे जिले के आसपास के कस्बाओं में खफाया जा रहा है। इसमें सेहत को नुकसान पहुंचाने वाले केमिकल व अन्य कच्चा माल प्रयोग किया जाता है। जिन चार कथित कारोबारियों पर एसटीएफ व खाद्य सुरक्षा अधिकारियों ने कार्रवाई की है, वह तो छोटे स्तर के छोटे कारोबारी हैं। इस कारोबार को संरक्षण देने वालों तो पुलिस व एसटीएफ टीम की पकड़ से दूर हैं। छापेमारी के बाद से ही कई कथित कारोबारी भूमिगत हो गए हैं। एसटीएफ ऐसे लोगों की कुंडली खंगालने में जुटी हुई है ताकि अवैध कारोबार के दुर्ग को ढहाया जा सके।

अडानी विलमार ने की थी शिकायत

अडानी विलमार कंपनी की ओर से इस फर्जीवाड़े की शिकायत सीएम पोर्टल पर की गई थी। इसके बाद लखनऊ के अफसरों ने आगरा की एसटीएफ को कंपनी के लीगल एडवाइडर गौरव तिवारी के साथ अलीगढ़ में छापे मार कार्रवाई की गई। देहलीगेट क्षेत्र के घुड़ियाबाग इलाके में मोरनी वाला पेंच इलाके में योगेश कुमार गुप्ता की। जगन्नाथ ट्रेडर्स पर छापा मारा गया। यहां गोदाम में भारी मात्रा में टिन बरामद किए गए हैं, जिन पर फारच्यून का लेबल लगा था। टीम ने यहां से 15 किलोग्राम के 185 टिन, 480 स्टीकर, 1340 प्लास्टिक के ढक्कन, एक स्टैंपिंग मशीन बरामद की है। आरोपित योगेश को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक, योगेश फारच्यून का स्टीकर लगाकर उसमें नकली रिफाइंड तेल की रीफिलंग करके बेच रहा था। इसके बाद टीम ने बन्नादेवी थाना क्षेत्र के जामाजी वाला पेंच इलाके में मुकुल की गौरव ट्रेडर्स के नाम से फर्म पर छापा मारा, जहां से 37 टीम सीज किए गए। इसी के बगल में प्रवीण वार्ष्णेय की भगवती इटरप्राइसेज से 10, जबकि अमित गोयल की तिरुपति बालाजी ट्रेडिंग कंपनी से 14 बरामद किए गए हैं। पुलिस ने सभी टिन को कब्जे में लेकर सुरक्षित जगह रखवा दिया है। वहीं चारों फर्मों के खाद्य सुरक्षा अधिकारियों ने सैंपल लिए थे। फारच्यून आयल कंपनी के हेड जय चौहान ने बताया कि टीम के निशाने पर अन्य कथित कारोबारी भी हैं। शुक्रवार को महावीरगंज, बारहद्वारी स्थित दुकानों पर एसटीएफ की इस कार्रवाई की चर्चा होती रही। अन्य कथित कारोबारी भी निशाने पर हैं।

प्रशासन सख्‍त कार्रवाई करे

अलीगढ़ उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के अध्यक्ष मास्टर ओम प्रकाश ने कहा कि लोगों की सेहत के साथ खिलवाड़ करने वालों पर प्रशासन सख्त कार्रवाई करे। व्यापार मंडल कभी किसी मिलावट खोरों का पैरोकार नहीं रहा। हम प्रशासन का मिलावट खोर व नकली खाद्यान बनाने वालों का पैरोकार नहीं रहा है।