जासं, अलीगढ़ : शहर के देहलीगेट व बन्नादेवी क्षेत्रों की चार फर्में नकली रिफाइंड तेल बनाकर फारच्यून कंपनी के नाम पर बेच रही थीं। गुरुवार को आगरा से आई एसटीएफ के नेतृत्व में पुलिस व एफडीए की टीम ने संयुक्त रूप से छापा मारा। यहां से भारी मात्रा में रिफाइंड बरामद किया गया है। एफडीए ने इनके सैंपल भरे हैं। वहीं पुलिस ने दो अलग-अलग मुकदमे दर्ज किए हैं। एक युवक को हिरासत में लिया गया है। पुलिस बरामद सामान की संख्या का आकलन कर रही है।

अडानी विलमार कंपनी की ओर से इसकी शिकायत एसटीएफ (स्पेशल टास्क फोर्स) से की गई थी। इसके आधार पर बुधवार को कंपनी के लीगल एडवाइजर गौरव तिवारी एसटीएफ के साथ दोपहर में अलीगढ़ आए। यहां स्थानीय पुलिस के साथ सबसे पहले देहलीगेट क्षेत्र के घुड़ियाबाग इलाके में जामाजी पेंच वाली गली में योगेश कुमार गुप्ता की फर्म पर छापा मारा गया। यहां गोदाम में भारी मात्रा में टिन बरामद किए गए हैं, जिन पर फारच्यून का लेबल लगा था, लेकिन तेल नकली था। टीम ने यहां से 15 किलोग्राम के 185 टिन, 480 स्टीकर, 1340 प्लास्टिक के ढक्कन, एक स्टैंपिग मशीन बरामद की है। आरोपित योगेश को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक, योगेश फारच्यून का स्टीकर लगाकर उसमें नकली रिफाइंड तेल भरकर बेच रहा था। इसके बाद टीम ने बन्नादेवी थाना क्षेत्र के मोरनी वाली पेंच में भगवती इंटरप्राइसेज से 10 टिन, तिरुपति बालाजी ट्रेडिग कंपनी से 14 टिन व एक अन्य गोदाम से 35 टिन बरामद किए हैं।

फारच्यून कंपनी के नाम पर नकली तेल बेचने की सूचना पर आगरा से एसटीएफ की टीम आई थी। इनके साथ कंपनी के अधिकारी भी थे। यहां पुलिस व एफडीए की टीम को साथ लेकर चार जगहों पर छापा मारा गया है। भारी मात्रा में नकली रिफाइंड आयल बरामद हुआ है। इस आधार पर देहलीगेट व बन्नादेवी थाने में दो अलग-अलग मुकदमे दर्ज किए जा रहे हैं। एक युवक को गिरफ्तार कर लिया है।

कुलदीप सिंह गुनावत, एसपी सिटी

Edited By: Jagran