अलीगढ़, जेएनएन। आजाद समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व भीम आर्मी चीफ चंद्र शेखर आजाद दुष्कर्म व बढ़ती अपराधिक घटनाओं को लेकर कमिश्नरी में मंडलायुक्त गौरव दयाल से मिलने पहुंचे। पिछले आधा घंटा से  अधिक बंद चैंबर में बात चल रही है। बताते हैं कि अलीगढ़ जिले के अकराबाद में हुई किशोरी की हत्या व हाथरस जिले के बूलगढ़ी घटना को लेकर चर्चा हुई है। 

भीम आर्मी ने पुलिस को दी थी चेतावनी

भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर ने गुरुवार को मृतक रवीन्द्र के परिजनों से मुलाकात की। रवींद्र के परिजनों द्वारा पुलिस प्रशासन से सहायता और मुआवजा न मिलने का आरोप लगाया। यह बात सुन चंद्रशेखर आजाद ने पुलिस प्रशासन पर जमकर निशाना साधा तथा एसएसपी कार्यालय पर ताला लगाने की बात कह डाली। साथ ही एससी एसटी एक्ट का मुआवजा ने मिलने पर मुख्यमंत्री पर विज्ञापन में रुपया लुटाने की कहकर अनुसूचितों का संबैधानिक ‌हक मारने की बात कही। इस दौरान कई अलग अलग मामलों के पीड़ित चंद्रशेखर रावण से मिले जिन्हें उन्होंने शाम को एफआईआर की प्रति लेकर एसएसपी कार्यालय पहुंचने को कहा। भीमआर्मी प्रमुख ने रवीन्द्र के परिजनों से मुलाकात की जिसकी दो माह पूर्व पीट पीट कर हत्या कर दी गई थी। परिजनों ने फरार चल रहे एक आरोपी पर धमकी देने का आरोप लगाया तो चंद्रशेखर ने कहा कि पीड़ित परिवार के साथ यदि और कोई हादसा होता है तो क्या कप्तान इसकी जिम्मेदारी लेंगे। उन्होंने कहा वह एसएसपी से पूछेंगे कि क्या वह हमारे एक और परिवार के व्यक्ति की हत्या कराना चाहते है। इसलिए उनको गिरफ्तार नहीं कर रहे या फिर कानून व्यवस्था खत्म हो चुकी है, गुंडों के आगे पुलिस प्रशासन ने घुटने टेक दिए हैं। यदि एसएसपी से नही हो रहा तो कुर्सी छोड़ें और अन्य जिले में जाएं। कार्यवाही में ढिलाई होगी तो एसएसपी ऑफिस में ताला लगेगा। हम जानवर नहीं कि जिसका मन आए हमारी हत्या करें।