हाथरस [जेएनएन]। हाथरस सदर कोतवाली क्षेत्र के संवेदनशील नाई के नगला इलाके में मंदिर के पास मास के अवशेष मिलने से आसपास के लोग आक्रोशित हो गए। सूचना मिलने के दस मिनट बाद ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। इसकी जानकारी आला अधिकारियों को मिली तो उनमें खलबली मच गई। आनन-फानन पुलिस ने मांस के अवशेषों को हटवा दिया है। घटना को लेकर हिंदुत्वादियों में रोष है।

यह है मामला

कोतवाली सदर क्षेत्र के अति संवेदनशील नाई का नगला इलाके में गुरुवार सुबह मंदिर के सामने मीट के अवशेष देख लोगों का आक्रोश फूट पड़ा। सूचना पर कई हिंदुत्वादियों मौके पर जमा हो गए और हंगामा करने लगे। हिंदुत्वादियों ने इलाके में संचालित मीट की अवैध दुकानों को बंद कराने की मांग की। पुलिस ने तत्काल दुकानों को बंद करा दिया। चेतावनी दी कि बिना लाइसेंस मीट की दुकान नहीं चलाने दी जाएगी।  नाई का नगला में कई वर्ष पुराना हनुमान मंदिर है। मंदिर परिसर में शिव परिवार की प्राण प्रतिष्ठा शुक्रवार को की जानी है। इसको लेकर गुुरुवार से दो दिवसीय धार्मिक अनुष्ठान रखे गए हैं। गुरुवार सुबह लोग मंदिर पर पहुंचे तो मंदिर के बाहर रोड पर मांस के अवशेष देख आक्रोशित हो उठे। सूचना पर सीओ सिटी रामशब्द यादव, एसएचओ एके ङ्क्षसह और अन्य पुलिसकर्मी भी पहुंच गए। मंदिर के सामने ट्रांसफार्मर के पास कूड़ा डाला जाता है। वहीं मंदिर से करीब 200 मीटर दूर मीट की दुकानें संचालित हैं।

जानवरों ने उन्हें खींचकर सड़क पर फैला दिया

पुलिस के अनुसार मीट विक्रेताओं ने बोरे में भरकर मांस के अवशेष डलावघर पर फेंके थे। जानवरों ने उन्हें खींचकर सड़क पर फैला दिया। मीट के अवशेष मिलने की जानकार पर अंतरराष्ट्रीय ङ्क्षहदू परिषद के जिलाध्यक्ष राजू कौशिक, नवनीत गौतम, गगन कौशिक, विशंभर शर्मा, कन्हैया शर्मा, नवनीत शर्मा समेत कई हिंदुत्वादियों और इलाके के लोग वहां इक_े हो गए और हंगामा करने लगे। सभी लोग मीट की दुकानें बंद कराने की मांग करने लगे। पुलिस ने दुकानों को बंद करा दिया। पुलिस ने मीट के अवशेषों को साफ करा दिया।

बिना लाइसेंस नहीं चलेंगी मीट की दुकानें

मंदिर के सामने मीट के अवशेष मिलने की घटना के बाद पुलिस अधिकारियों ने इलाके में भ्रमण किया। उन्होंने इलाके में संचालित मीट की दुकानों को बंद करा दिया। निर्देश दिए बिना लाइसेंस के कोई भी दुकान नहीं खुलने दी जाएगी।

Edited By: Sandeep Saxena